Top

पिटाई से वृद्ध की मौत, दो पुलिसवालों के खिलाफ मामला दर्ज

यूपी के रामपुर में पुलिस की पिटाई से एक वृद्ध की दिमाग की नस फटने से मौत हो गई। आक्रेाशित परिजनों ने शव को हाइवे पर रखकर हंगामा काटा|

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 2 Dec 2016 9:40 PM GMT

पिटाई से वृद्ध की मौत, दो पुलिसवालों के खिलाफ मामला दर्ज
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रामपुर : यूपी के रामपुर में पुलिस की पिटाई से एक वृद्ध की दिमाग की नस फटने से मौत हो गई। आक्रेाशित परिजनों ने शव को हाइवे पर रखकर हंगामा काटा तो पुलिस ने दो पुलिसकर्मियों के खिलाफ आनन फानन में मामला दर्ज किया तब कहीं परिजन हाइवे से हटे।रामपुर के थाना भोट के गांव खूंटाखेड़ा के छोटेलाल व अमरजीत सिंह के बीच जमीन को लेकर कुछ विवाद हो गया था। इसी को लेकर निहाल सिंह के बेटे संजू की ओर से आरोपी छोटेलाल व उसके पक्ष के लोगों के खिलाफ रिपोर्ट थाना भोट में गत 30 नंवबर को दर्ज कराई थी। आरोप है कि चौकी मनकरा के इंचार्ज व दो सिपाही ऋषिपाल सिंह व दुष्यंत ने उल्टे निहाल सिंह को ही हिरासत में ले लिया। चौकी पर लाकर पचपन वर्षीय निहाल सिंह को पुलिसकर्मियों ने मारा पीटा जिससे वह जख्मी हो गये। बाद में हालत खराब देखते हुये निहाल सिंह को परिजनों के हवाले कऱ दिया गया।

परिजनों ने उन्हें उपचार के लिये बरेली में भर्ती कराया लेकिन हालत में सुधार नहीं हुआ तो परिजन उन्हें लेकर बरेली से हल्द्वानी जा रहे थे, लेकिन रास्ते में मीरगंज के पास उनकी मौत हो गई। शव को जिला अस्पताल लाया गया। परिवार का आरोप है कि पुलिस की पिटाई से निहाल सिंह के दिमाग की नस फट गई जिससे उनकी मौत हो गई। इसके बाद जैसे ही निहाल सिंह के परिवार के दूसरे लोगों व ग्रामीणों को इस बारे में पता चला तो वह चौकी के सामने जमा होना शुरू हो गये।

आक्रोशित परिजनों व ग्रामीणों ने नैनीताल दिल्ली हाईवे 87 पर जाम लगा दिया और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। हंगामेबाजी का यह सिलसिला तकरीबन ढाई घंटे तक चला। आक्रोशित लोगों की मांग थी कि आरोपी सिपाहियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाये। इस बारे में सूचना मिलने पर क्षेत्राधिकारी स्वार राधेश्याम फोर्स सहित मौके पर पहुंच गये और लोगों को कार्यवाही का आश्वासन देकर शांत किया। इसके बाद ग्रामीणों ने जाम खोला। आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ तहरीर दे दी गई है।

उच्चाधिकारियों का कहना है कि निहाल सिंह को पुलिस हिरासत में लेने के बाद बीमारी के चलते छोड़ दिया गया था, जिसकी उपचार के दौरान मौत हो गई। फिलहाल सीओ स्तर के अधिकारी को मामले की जांच सौंप दी है। साथ ही पुलिस ने एक हैड कांस्टेबिल व कांस्टेबिल के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story