Top

तो अब ये 25 लोग नहीं हैं हिस्‍ट्रीशीटर, पुलिस विभाग की अनोखी पहल

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 4 Nov 2018 12:05 PM GMT

तो अब ये 25 लोग नहीं हैं हिस्‍ट्रीशीटर, पुलिस विभाग की अनोखी पहल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

सहारनपुर: एसएसपी उपेंद्र कुमार अग्रवाल की सार्थक पहल ने जिले के ऐसे 25 लोगों पर से हिस्ट्रीशीटर का काला दाग हटा दिया है। जिनकी हिस्ट्रीशीट 1970-80 के दशक में खुली थी और अब वे सभी अपराधिक जीवन छोड़कर पारिवारिक जीवन व्यतीत कर रहे हैं।

ये भी देखें: यहां लगता है दूल्हा बाजार, लड़कियां शौक से खरीदती है हसबैंड, इस बिजनेस में है करोड़ों की कमाई

ये भी देखें: योगी जी! यहां नर्सिंग होम संचालक पैसे के लिए मरीजों को बनाते हैं बंधक

50 पार वालों को दी राहत

दरअसल, थानों के निरीक्षण के दौरान एसएसपी उपेंद्र कुमार अग्रवाल ने पाया कि काफी संख्या में ऐसे लोग अभी भी हिस्ट्रीशीटर की श्रेणी में हैं। जिनकी उम्र 50 वर्ष से अधिक हो चुकी है और उन्होंने पिछले 20 वर्षों में कोई अपराध नहीं किया। इस पर एसएसपी ने सभी थानाध्यक्षों को ऐसे एचएस के बारे में जानकारी जुटाने के निर्देश दिए थे। थानावार जो रिपोर्ट एसएसपी को प्राप्त हुई। उसके अनुसार जिले भर में ऐसे 25 लोग पाए गए, जो अब अपराधों से दूर होकर पारिपारिक और सामाजिक जीवन व्यतीत कर रहे हैं, लेकिन इसके बावजूद उनके परिजन पारिवारिक सदस्य के एचएस होने की मानसिक पीड़ा झेल रहे हैं। एसएसपी ने सूची में से एक व्यक्ति के नाम का चयन कर उसे बुलाया और उसके साथ वार्ता की। जिसके बाद 25 लोगों का एचएस का खाका समाप्त करने का निर्णय लिया गया।

ये भी देखें: सीएम योगी ने कहा—मैंने इलाहाबाद का नाम बदल दिया, 24 घंटे में बूचड़खाने बंद हुए

इनको मिली नई जिंदगी

जिनके ऊपर से एचएस होने का काला दाग हटा है। उनमें ब्रजमोहन उर्फ काकू, ब्रजविहार थाना मंडी, इलिया, हुसैन बस्ती, गफूर मोहल्ला झोटे वाला, हारुन दभेडा कला चिलकाना, अशरफ सुल्तानपुर चिलकाना, अख्तर ठोकरपुर गागलहेडी, मुनफैत फरखपुर नवादा फतेहपुर, वसीम गंदेवडा फतेहपुर, समय सिंह मुजफ्फराबाद थाना फतेहपुर, मेहरबान तल्हेडी देवबंद, चांद सिंह फलौदा रहमत देवबंद, अब्दुल उर्फ रुप्पा गोपाली देवबंद, सतपाल बंदरजुड देवबंद, औशाक मानकी देवबंद, शब्बर थीथकी देवबंद, मिरगपुर देवबंद निवासी संसार, सत्यपाल उर्फ भूरा, नीरी उर्फ नीरपाल, ऋषिपाल पुत्र अकल सिंह, ऋषिपाल पुत्र दीला, नरेश उर्फ बाबा के अलावा तिलकराम चाहपारस देवबंद, कुवंरपाल खेडा मुगल देवबंद, ज्ञान सिंह ग्राम फलौदा देवबंद शामिल है।

एसएसपी उपेंद्र कुमार अग्रवाल ने स्पष्ट किया कि जिन लोगों का एचएस खाका नष्ट किया गया है। अब वे लोग भविष्य में एचएस नहीं कहलाएंगे और इनका परिवार तथा आने वाली पीढ़ी अपने पारिवारिक सदस्य के एचएस होने की पीड़ा से मुक्त हो जाएगी। उन्होंने कहा कि यह अभियान आगे भी जारी रहेगा।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story