Top

रेलवे गेटमैन की बेरहमी से हत्या, पहले आंखें फोड़ी, फिर तोड़ दिए दांत

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 7 Feb 2016 3:28 PM GMT

रेलवे गेटमैन की बेरहमी से हत्या, पहले आंखें फोड़ी, फिर तोड़ दिए दांत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रामपुर: थाना शहजादनगर स्थित एक रेलवे गेटमैन की रात में डियूटी के दौरान हत्या कर दी गई। शव को रेलवे ट्रेक पर डाल दिया गया। इससे उसका शव दो हिस्सों में कट गया। पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

परिवार के साथ रहता था नैपाल

-शिकोहाबाद का रहने वाला 55 वर्षीय नैपाल सिंह पुत्र जौहरी प्रसाद शहजादनगर में गेटमैन है।

-नैपाल रेलवे गेट संख्या 400सी ककरउवा क्राॅसिंग पर कई सालों से तैनात था।

-उसके तीन लड़के और तीन लड़कियां हैं जो उसी के साथ रहते थे।

फोन न उठने पर हुआ शक

-बीती रात गेटमैन नैपाल सिंह डियूटी पर थे।

-रेलवे स्टाफ ने रेल की सूचना देने के लिए मध्य रात्रि नैपाल सिंह को फोन किया।

-फोन नहीं उठने पर उनके व्यक्तिगत नम्बर पर काॅल की गई लेकिन वो भी नहीं उठा।

-रेलवे स्टाफ को शक हुआ और वे गेट पर पहुंचे तो वहां नैपाल सिंह मौजूद नहीं थे।

दो टुकड़ों में मिला शव

-गेट किनारे टूटी हुई इलेक्ट्राॅनिक टार्च, घड़ी जूते व चाय का गिलास मिला।

-करीब 100 मीटर की दूरी पर रेलवे लाइन पर नैपाल सिंह का शव दो टुकड़ों में दिखाई दिया।

-मौके पर पहुंचे अभियंता राजकुमार ने पूरी घटना की सूचना थाना शहजादनगर पुलिस को दी।

-पुलिस ने शव को जिला अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

बेरहमी से हुई हत्या

-नैपाल सिंह की बेरहमी से हत्या हुई है उनकी आंखें फोड़ी गईं और दांत तक निकाल लिए गए।

-पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज करते हुए जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

-नैपाल सिंह जल्द रिटायर होने वाले थे और अपने तीन बेटों में से एक को नौकरी पर रखवाना चाहते थे

-उन्होंने दो बेटों व तीन बेटियों के बीच जायदाद का बंटवारा भी किया था।

Newstrack

Newstrack

Next Story