Top

रक्षाबंधन: पति ने बहन को दिए एक हजार रुपए तो पत्नी ने लगाई फांसी

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 27 Aug 2018 5:15 AM GMT

रक्षाबंधन: पति ने बहन को दिए एक हजार रुपए तो पत्नी ने लगाई फांसी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: बड़ी बहन ने भाई की कलाई पर राखी का धागा बांधा और भाई ने खुश होकर बहन को एक हजार रुपए दे दिए। नन्द को एक हजार देते देख भाभी का पारा सातवे आसमान पर पहुंच गया। नाराज होकर उसने कमरे में जाकर फांसी लगा ली। देवर ने भाभी को फांसी पर झूलते देखा तो शोर मचाकर सभी सूचना दी और उसे फंदे से उतार कर हैलट अस्पताल में भर्ती कराया। जहा महिला का उपचार चल रहा है फ़िलहाल उसकी हालत चिंता जनक बनी हुई है।

यह भी पढ़ें: सिखों और ग्रामिणों के बीच संघर्ष मामला, सिख समुदाए ने की शांति बनाए रखने की अपील

गोविन्द नगर थाना क्षेत्र निवासी आशीष कुमार प्राइवेट नौकरी करते है।परिवार में पत्नी कविता (24) छोटा भाई विनय के साथ रहता है।रक्षा बंधन के मौके पर बहन किरण भाइयो को राखी बांधने के लिए आयी थी। दरसल कविता नन्द किरण को राखी बांधने के उपहार में 500 रुपए देना चाहती थी लेकिन भाई ने एक हजार रुपए दे दिया तो वो अपने गुस्से को काबू नही कर सकी और जाकर कमरे में फाँसी लगा ली।

आशीष के मुताबिक रक्षा बंधन के मौके पर घर में ख़ुशी का माहौल था। सुबह से घर पर पकवान पक रहे थे और खुशनुमा माहौल। आशीष ने बताया कि कविता ने मुझसे सुबह कहा था कि बहन जब राखी बांधने आये तो उसे 500 रूपए गिफ्ट में दे देना। जब बहन ने मेरे और छोटे भाई की कलाई पर राखी बांधी तो मैंने उसे एक हजार रुपए दे दिए। रूपए देते वक्त कविता ने देख लिया और वो चुपचाप मेरी तरफ गुस्से में देखते हुए कमरे में चली गयी।

कमरे में जाकर कविता ने फांसी लगा लिया। मेरे छोटे भाई ने उसे फांसी से लटकता हुए खिड़की से देख लिया।यह नजारा देखते हुए वो शोर मचाने लगा और सभी लोगो ने मिलकर उसे फंदे से नीचे उतारा और हैलट अस्पाल में भर्ती कराया है। विनय का कहना है कि हैलट में भाभी का इलाज चल रहा है।

अभी उनकी हालत चिंता जनक बनी हुई है ,यदि फंदे से उतारने में जरा भी देरी हो जाती तो कुछ भी हो सकता था। गोविन्द नगर इन्स्पेक्टर संजीव कान्त मिश्रा के मुताबिक आप लोगो के माध्यम से मुझे इस घटना की जानकारी हुई है। लेकिन इस संबंध में थाने को सूचना नही मिली है यदि सूचना आती है तो इस घटना की जानकारी की जायेगी।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story