Top

Religious Conversion in Jail: सिर्फ नमाज पढ़ी, इस्लाम नहीं कबूला, जानें ताराचंद की क्या है सच्चाई

हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं नेआरोप लगाया कि जेल में ही बंद खरखौदा क्षेत्र के युवक ने ताराचंद को दो लाख रुपये देकर उसका धर्मांतरण करा दिया।

Network

NetworkNewstrack NetworkShashi kant gautamPublished By Shashi kant gautam

Published on 27 Jun 2021 4:32 AM GMT

Tarachands conversion in jail
X

जेल में ताराचंद का धर्मांतरण: फोटो- सोशल मीडिया    

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Religious Conversion In Jail: यूपी में धर्मांतरण की घटनाएं इन दिनों बढ़ गई हैं। एक अलग मामला मेरठ जनपद में हत्या के मामले में जेल में बंद ताराचंद ने दाढ़ी कटवा दी है। हिंदू संगठन के लोगों ने जेल में उसके धर्मांतरण का आरोप लगाकर हंगामा किया। गांव के कुछ लोग उस पर धर्मांतरण की बात कहने का जबरन दबाव बना रहे हैं। लेकिन उसका कहना है कि उसने सिर्फ नमाज पढ़ी है, इस्लाम कबूल नहीं किया है।

धर्मांतरण का नया मामला मुंडाली थाना क्षेत्र के मऊ खास का है। मऊ खास गांव का ताराचंद वर्ष 2017 से जेल में बंद था। वह एक महीने पहले जेल से पैरोल पर आया है। शुक्रवार को हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं ने मऊ खास पुलिस चौकी पर हंगामा किया।

दो लाख रुपये लेकर ताराचंद का धर्मांतरण करने का आरोप

हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं नेआरोप लगाया कि जेल में ही बंद खरखौदा क्षेत्र के युवक ने ताराचंद को दो लाख रुपये देकर उसका धर्मांतरण करा दिया। ताराचंद मस्जिद में नमाज पढ़ता है और गांव में आकर हिंदू युवाओं को भी धर्मांतरण कराने का दबाव बना रहा है। बताया गया है कि यह मामला तूल पकड़ता जा रहा है इससे पहले ही मुंडाली थाना पुलिस ने ताराचंद की दाढ़ी कटवा दी और उसका एक वीडियो भी बना लिया।

जबरन दबाव बना रहे हैं कि वह धर्मांतरण की बात कहे

दूसरी तरफ ताराचंद का कहना है कि जेल में उसकी बैरक में 50 मुस्लिम युवक बंद थे। इसमें एक युवक ने हत्या के केस में उसकी मदद की और पैरोल पर उसे जेल से बाहर कराया है। इसके चलते वह मुस्लिम युवकों के साथ जेल में ही नमाज पढ़ने लगा था। उसका कोई धर्मांतरण नहीं हुआ और न ही उसने इस्लाम कबूल किया है। वह गांव में अपने घर पर रहता है। कुछ लोग उस पर जबरन दबाव बना रहे हैं कि वह धर्मांतरण की बात कहे।

ताराचंद के बयान दर्ज कर लिए गए हैं

धर्मांतरण के आरोप और हंगामे के बाद खुफिया विभाग भी अलर्ट हो गया। मऊ खास के एक युवक ने ताराचंद और एक मुस्लिम युवक के खिलाफ थाने में तहरीर भी दी। आरोप लगाया कि ताराचंद उस पर धर्मांतरण करने का दबाव बना रहा था। पुलिस ने इस मामले में रिपोर्ट दर्ज नहीं की, बल्कि ताराचंद के बयान दर्ज कर लिए हैं। ताराचंद पर जो युवक धर्मांतरण होने की बात कहने का दबाव बना रहे हैं, पुलिस अब उनकी तलाश कर रही है।

पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज नहीं की

इस मामले में सीओ किठौर बृजेश सिंह ने बताया कि "धर्मांतरण कराने की शिकायत मऊ खास के युवक ने थाने में दी है। पुलिस ने अभी रिपोर्ट दर्ज नहीं की, बल्कि जांच शुरू कर दी है। ताराचंद हत्या के मामले में जेल में था। वहीं पर मुस्लिम युवकों से उसकी बात हुई है। ताराचंद धर्मांतरण की बात से इनकार कर रहा है।"

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story