Top

#MeToo में फंसे 56 वर्षीय ये बड़े डाक्‍टर साहब, 26 साल की युवती को बनाया शिकार

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 13 Oct 2018 3:37 PM GMT

#MeToo में फंसे 56 वर्षीय ये बड़े डाक्‍टर साहब, 26 साल की युवती को बनाया शिकार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: इस समय #मीटू कैंपेन ने अच्‍छे अच्‍छों की नींद उड़ा रखी है। अब इसमें नवाबी नगरी के एक बड़े न्‍यूरोसर्जन का नाम आया है। जिन्‍होंने न केवल शोषण किया, बल्कि शादी का झांसा देकर पीडिता को गर्भवती भी कर दिया। पीडिता उसके बच्‍चे की मां बन गई लेकिन डॉक्‍टर साहब को तरस नहीं आया। आलम ये है कि डॉक्‍टर साहब खुद 56 साल के हैं लेकिन 26 वर्षीय युवती को आज से पांच साल पहले बेहोशी की हालत में अपनी हवस का शिकार बना डाला। इसके बाद ब्‍लैकमेलिंग और यातनाओं का जो दौर शुरू हुआ, वह आज तक जारी था। अब पीडिता ने कानून की मदद लेकर आरोपी को सबक सिखाने के लिए पुलिस को तहरीर दी है।

नशीली दवा खिलाकर किया था रेप

केजीएमयू में न्यूरो सर्जरी विभाग के एचओडी रहे डॉ. रवि देव के खिलाफ एक महिला ने रेप का आरोप लगाते हुए महानगर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया है। महिला के मुताबिक वह डॉ. रवि देव की मरीज थी। डॉक्टर ने इलाज के दौरान नशीली दवा खिलाकर उसका रेप किया और उसकी अश्लील फोटो व वीडियो बना ली। फिर उसे बदनाम करने की धमकी देकर उसका यौन शोषण करने लगा।

इस दौरान वह गर्भवती हो गई और डॉ. रवि देव के विरोध के बावजूद बच्चे को जन्म दिया। पीड़िता के मुताबिक बच्चे की हिफाजत के लिए वह अलग रहने लगी। इससे खफा डॉक्टर उसे साथ में रहने के लिए धमकाने लगा। कोई रास्ता न देख पीड़िता ने मामले की शिकायत महानगर पुलिस से की। पुलिस ने संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।

शहर के प्रतिष्ठित न्यूरो सर्जन डा. रवि देव ने युवती को बेहोश कर उसके साथ रेप किया। आपत्तिजनक वीडियो तैयार कर युवती पर उनके क्लीनिक में काम करने का दबाव बनाया। विरोध करने पर वीडियो वॉयरल करने की धमकी देने लगे। गर्भवती होने पर डा. रवि देव ने युवती से अबॉर्शन कराने के लिए कहा। पर, वह तैयार नहीं हुई। इस बीच युवती ने बच्चे को जन्म दिया। बेटे के पैदा होने के बाद युवती की मुसीबत बढ़ गई। डॉक्टर उसके साथ आप्राकृतिक दुष्कर्म करने लगे। एतराज जताने पर युवती को पीटा गया। पांच साल तक यातनाएं झेलने के बाद युवती की सब्र जवाब दे गया। उसने महानगर कोतवाली में डा. रवि देव व उनके साथियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story