Top

उसने रात में कोठी पर जाने से किया इंकार, तो कर दिया ट्रांसफर...अब योगी से लगाई गुहार

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 1 April 2017 3:18 PM GMT

उसने रात में कोठी पर जाने से किया इंकार, तो कर दिया ट्रांसफर...अब योगी से लगाई गुहार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

आगरा : एसएन मेडिकल कॉलेज के स्त्री रोग विभाग में काम करने वाली आया ने सीएमएस पर गंभीर आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को मेल कर मदद की गुहार लगाईं है। आया पर वार्ड में आ रहे तीमारदारों से पैसे लेने और कर्मचारियों के साथ अश्लील हरकतें करने का आरोप लगा ट्रांसफर किया गया है। आया ने इसकी शिकायत प्राचार्य से की थी, पर कोई मदद न मिलने पर उसने मुख्यमंत्री से न्याय की गुहार लगाई है।

ये भी देखें :एक्शन में योगी: अखिलेश के ड्रीम प्रोजेक्ट गोमती रिवर फ्रंट के कामों की जांच, 45 दिन में मांगी रिपोर्ट

आगरा की रहने वाली अनीता (काल्पनिक) सरोजनी नायडू मेडिकल कॉलेज के स्त्री रोग विभाग में आया के पद पर तैनात है। अनीता के अनुसार सीएमएस अजय अग्रवाल और अधिकारी शैलेन्द्र काफी समय से उससे अश्लील बात करते थे। अजय अग्रवाल उसे कई दिन से रात में कोठी पर बुला रहा था, पर वो मजाक में टाल देती थी। उसकी बात न मानने पर उसपर अश्लीलता का आरोप लगाकर उसका और दो अन्य का ट्रांसफर कर दिया गया है।

आया के अनुसार करीब सत्तर ट्रांसफर सीएमएस ने पैसा लेकर रोक रखे हैं, लेकिन उसका ट्रांसफर किया गया है। अनीता का कहना है कि मुझे ट्रांसफर से कोई दिक्कत नहीं है। लेकिन जो आरोप उसपर लागाये गए हैं उन आरोपों को हटा कर उसका ट्रांसफर हो तो कोई बात नहीं, वरना वो जान दे देगी। पूरे प्रकरण पर कोई भी जिम्मेदार अधिकारी जवाब देने को तैयार नहीं है।

अनीता को मांगने पर भी उसके ट्रांसफर का कारण नहीं बताया गया। पर चार पेज की रिपोर्ट में से एक पेज उसे मिल गया। जिसमें उसके साथ काम करने वाले यूनियन अध्यक्ष और दो आया के साथ एक ग्रुप बताया गया है। और लिखा है कि ये लोग रात में शराब पीते हैं, और कमरे में एक साथ सोते हैं, तीमारदारों से पैसे लेते हैं। अनीता के पास अवैध पैसे से दो कार होना बताया गया है।

अनीता के अनुसार उसका पति बैंक में कर्मचारी है, और वो भी सन 1974 से नौकरी कर रही है। कारें पति की कमाई से खरीदी हैं। मुझे ट्रांसफर का कोई डर नहीं ,बच्चे बड़े हो गये हैं और वो कहीं भी रह सकती है। लेकिन इस उम्र में उसपर जो आरोप लगाए गये हैं। उनके बाद अब वो किसी से बात करने लायक भी नहीं रही।

पति से भी इस बारे में बात करने के लिए समय नही मिल पा रहा है। मेरा ट्रांसफर हो गया है और मैंने ज्वाइन भी कर लिया है। पर जो आरोप लगाए गये हैं, उनके साथ मैं नही रह सकती हूँ। इस मामले की शिकायत मैंने प्राचार्य सरोज अग्रवाल से भी की थी पर कोई कार्यवाही नही हुई, उसे ही धक्के मार के भगा दिया गया। अजय अग्रवाल कहता है अब तुम लोगो की सरकार गयी अब हमारी सरकार है कुछ नही होगा।

इस संबंध में प्राचार्य सरोज अग्रवाल ने कुछ भी बोलने से मना करते हुए कहा,कि अभी इस मामले में कोई कार्यवाही नही की गयी है। जांच के बाद आपको सूचित कर दिया जाएगा।

सीएमएस अजय का कहना है कि आया का पूरा ग्रुप है। जो पूरे वार्ड का माहौल ख़राब कर रहे थे, आने वाले तीमारदारों से पैसा वसूली मुख्य काम था। इसलिए उसका ट्रांसफर किया गया है। आगे अगर वो कोई आरोप लगा रहे हैं, तो जांच हो जाने दीजिये खुद ही सब सामने आ जाएगा।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story