Top

वाणिज्य कर विभाग का छापा, ट्रेन ड्राइवर ले उड़ा पार्सल बोगी, और फिर...

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 28 Oct 2018 11:09 AM GMT

वाणिज्य कर विभाग का छापा, ट्रेन ड्राइवर ले उड़ा पार्सल बोगी, और फिर...
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बरेली: उत्तर प्रदेश के बरेली जिले में वाणिज्य कर विभाग ने बरेली जंक्शन पर टैक्स चोरी की सूचना के चलते बरेली जंक्शन पर छापा मारा। छापे का यह असर हुआ कि ड्राइवर इंजन के साथ पार्सल बोगी को लेकर भाग खड़ा हुआ। जब वाणिज्य कर के विभाग के लोगों ने सख्ती दिखाई तब जाकर ड्राइवर इंजन के साथ बोगी लेकर वापस लौटा।

ये भी देखें:सांसदों के घर पर देश व्यापी भूख हड़ताल, इस सांसद का मिला समर्थन

जंक्‍शन पर फैला है टैक्‍स चोरों का जाल

कर विभाग के अधिकारियों को सूचना मिल रही थी कि टैक्स चोरों का जाल जंक्शन पर भी फैला हुआ है। इस काम में रेलवे के अफसर और कर्मचारी भी मिले हुए हैं। टैक्स चोरी की धरपकड़ को आज वाणिज्य कर विभाग की टीम ने छापा मारा तो ड्राइवर इंजन के साथ पार्सल बोगी को लेकर भाग खड़ा हुआ।

ये भी देखें:शशि थरूर ने PM पर की आपत्तिजनक टिप्पणी, मोदी को बताया बिच्छू के समान

सटीक सूचना पर पड़ा छापा

वाणिज्य कर विभाग के एडिश्नल कमिश्नर एसपी सिंह के नेतृत्व में जंक्शन पर टैक्स चोरों की तलाश में छापेमारी की गई। अफसरों को सूचना मिली थी कि दिल्ली-बरेली पैसेंजर से लाखों की टैक्स चोरी का माल आ रहा था। जैसी ही ट्रेन जंक्शन के प्लेटफार्म नंबर चार पर पहुंची तो अफसरों ने घेराबंदी कर ली। ट्रेन के रुकते ही ड्राइवर को पता चला कि वाणिज्य कर विभाग का छापा पड़ा है। ऐसे में उसने तुरंत इंजन के साथ पार्सल बोगी को अलग किया तो उसे यार्ड की तरफ लेकर भाग गया।

ये भी देखें:यूपीटीईटी: दो दिन बाद जारी होंगे एडमिट कार्ड, जानें इससे जुड़ी और कई मुख्य बातें

माल की जांच शुरू

इस घटना पर अफसरों ने रेलवे अफसरों के सामने सख्त नाराजगी जताई। कुछ ही समय बाद ड्राइवर इंजन के साथ पार्सल बोगी को लेकर प्लेटफार्म नंबर चार पर पहुंच गया। अफसरों ने पार्सल बोगी खुलकर माल की जांच शुरू कर दी है। वहीं अधिकारी टैक्स चोरी के माल का आंकलन करने में जुटे थे ताकि टैक्स चोरी के इस खेल पर हमेशा के लिए रोक लगाई जा सके।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story