Top

वही तारीख, वही समय, वही कमरा जहां पिता का हुआ देहांत, बेटी ने भी लगा ली फांसी

पिता की मौत के बाद एक बेटी को ऐसा सदमा लगा कि उसने अपनी मौत का समय और तारीख वही चुनी जब उसके पिता की मौत हुई थी। बेटी की मौत के बाद पूरे घर में कोहराम मच गया परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 3 Nov 2016 7:37 PM GMT

वही तारीख, वही समय, वही कमरा जहां पिता का हुआ देहांत, बेटी ने भी लगा ली फांसी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

वही तारीख, वही समय, वही कमरा जहां पिता का हुआ देहांत, बेटी ने भी लगा ली फांसी

कानपुर: पिता की मौत के बाद एक बेटी को ऐसा सदमा लगा कि उसने अपनी मौत का समय और तारीख वही चुनी जब उसके पिता की मौत हुई थी। बेटी की मौत के बाद पूरे घर में कोहराम मच गया। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

क्या है मामला ?

-घटना कानपुर के बर्रा थाना क्षेत्र के बर्रा दो इलाके की है।

-जहां केडीए कर्मचारी अनिरुद्ध सेंगर की मौत एक साल पहले 3 नवंबर को शाम 04:30 बजे कैंसर की वजह से हुई थी।

-उनकी मौत के बाद परिवार में उनकी पत्नी अंजली सेंगर, बेटे प्रफुल, बेटी स्नेहा (25), सबसे छोटी बेटी नेचर थी।

-अनिरुद्ध सेंगर की मौत के बाद उनके बेटे प्रफुल को उनकी जगह नौकरी मिल गई थी।

-जिससे परिवार का भरण पोषण चल रहा था।

-स्नेहा अपने पिता से बहुत प्यार करती थी, वह स्टाफ सिलेक्शन कमीशन (एसएससी) की प्रेपरेशन कर रही थी।

यह भी पढ़ें ... बहन और बाप का बेहरमी से किया कत्ल, फिर भाई बोला- अब अच्छा महसूस कर रहा

घर पर अकेले थी स्नेहा

-मृतका के भाई प्रफुल्ल ने बताया कि गुरुवार शाम के वक्त उसकी मां और छोटी बहन मार्केट गई थी।

-घर पर स्नेहा अकेले थी।

-जब वह ऑफिस से वापस लौटा तो गेट अंदर से बंद था।

-जिसके बाद वह मकान के पीछे वाले गेट की दीवार फांद कर घर के अंदर गया।

-जहां उसने देखा कि सभी कमरों के दरवाजे खुले थे।

-स्नेहा का रूम अंदर से बंद था।

यह भी पढ़ें ... दबंगों ने की बहन के पति की हत्या, डेढ़ साल पहले की थी घर से भाग कर शादी

फंदे से लटका मिला शव

-प्रफुल्ल ने बताया कि उसने खिड़की से झांक कर देखा तो वहां उसकी बहन स्नेहा का शव फंदे से लटक रहा था।

-प्रफुल्ल ने तुरंत इसकी सूचना पुलिस और मां को दी।

-जिसके बाद पुलिस ने कमरे का दरवाजा तोड़ शव को पंखे के कुंडे से नीचे उतारा।

यह भी पढ़ें ... राखी बंधवाने से पहले खेलने चला गया भाई, नाराज बहन ने लगाई फांसी

पिता की मौत के बाद से ही थी डिप्रेस

-प्रफुल्ल के मुताबिक, उसके पिता की मौत 3 नवंबर की शाम लगभग 4:30 बजे कैंसर की वजह से हुई थी।

-उसने बताया कि स्नेहा पापा से बहुत प्यार करती थी।

-उनकी मौत के बाद वह बहुत डिप्रेस और परेशान रहती थी।

-उसने भी 3 नवंबर की शाम 4:30 बजे बजे ही फांसी लगाई, वो भी उस कमरे में जहां उसके पापा का निधन हुआ था।

यह भी पढ़ें ... फ्रेंडशिप डे पर दोस्ती हुई कलंकित, धोखे से लूटी दोस्त की बहन की आबरू

सुबह से ही कर रही थी बहकी बहकी बातें

-मृतका की मां अंजली के मुताबिक, स्नेहा बहुत बहादुर बेटी थी वह कैसे फांसी लगा सकती थी।

-जितना वह अपने पापा से प्यार करती थी उतना ही परिवार के अन्य सदस्य से भी करती थी।

-उन्होंने ने बताया कि स्नेहा सुबह से ही बहकी बहकी बातें कर रही थी।

-वह रो-रोकर कह रही थी कि आज ही के दिन उसके पापा सभी को छोड़ कर चले गए थे।

यह भी पढ़ें ... प्रेमी के साथ बेटी ने की पिता की हत्या, भाई के सामने हथौड़े से पीट कर मारा

क्या कहना है पुलिस का ?

-बर्रा थानाध्यक्ष तुलसी राम पांडेय के मुताबिक शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

-परिजनों ने किसी तरह की कोई तहरीर नहीं दी है।

आगे की स्लाइड्स में देखिए PHOTOS

kanpur-01

kanpur-02

kanpur-03

kanpur-05

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story