Top

धनतेरस पर कलेजे के टुकड़े की लाश को हाथ में लेकर रोती रही मां, ये है मामला

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 5 Nov 2018 10:00 AM GMT

धनतेरस पर कलेजे के टुकड़े की लाश को हाथ में लेकर रोती रही मां, ये है मामला
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

सुल्तानपुर: घर में धनतेरस-दिपावली के पर्व की तैयारियां चल रही थी। इकलौती बहन पढ़ाई के लिए कालेज गई हुई थी। तभी त्योहारों की खुशी के मौके पर दुःख भरी ये ख़बर आई कि नीलेश अब दुनिया में नहीं रहा। बस फिर क्या था घर में कोहराम मच गया। मां-बाप और भाई सभी हॉस्पिटल की ओर दौड़ पड़े।

बेटे की लाश को देखते रह गई मां

थाना क्षेत्र के इंटर का छात्र नीलेश यादव अपने गांव बड़ौरा ख्वाजापुर से निकल कर नगरी गांव के विद्यावती गर्ल्स डिग्री कालेज के पास पहुंचा था कि बाइक सवार दो बदमाशों नें उसके सिर पर दो गोलियां दाग दीं, जिससे उसकी मौत हो गई थी। ख़बर मिलने के बाद तीन बेटों और एक बेटी के बाप नें जिस वक्त मौके वारदात पर अपने लाडले का खून में लतपथ शव देखा तो सर पर हाथ रख कर बैठ गया।

जैसे-तैसे शव सीएचसी आया तो बाप की आंखें छलक उठीं। इस बीच दो बेटों के संग मां जब यहां पहुंची तो बेटे के शव को देख विलाप करते हुए देर तक अपनी कोख से जन्मे को निहारती रह गई। उधर चाहने वाली इकलौती बहन कालेज में जैसे ही ये ख़बर मिली के छोटा भाई अब दुनिया में नहीं रहा तो वो तत्काल हास्पिटल पहुंची और भाई की लाश पर बिखर सी गई। मृतक नीलेश की बहन कालेज से बीएससी कर रही है।

रविवार को दिपावली मनाने शहर से घर आया था नीलेश

नीलेश यादव इंटरमीडिएट का स्टूडेंट् था, अपनी जिंदगी को बेहतर मुकाम देने की गर्ज से अच्छी शिक्षा के लिए वो सुल्तानपुर में रहकर कोचिंग करता था। रविवार शाम नीलेश सुल्तानपुर से अपने परिवार के बीच दीपावली की खुशियां मनाने आया था।

सोमवार को उसके व घर वालों के अरमान धरे के धरे रह गए जब वो बदमाशों की गोलियों का निशाना बन गया। बताया जा रहा है कि मृतक के चाचा जितेन्द्र यादव यूपी पुलिस में कोतवाल पद पर मथुरा में तैनात हैं। उनका कहना है कि जब तक मैं नही आऊंगा और अपने भतीजे के हत्यारों से बदला नही लूंगा तब तक लाश नही जाएगी।

ये भी पढ़ें...सुल्तानपुर: क्राइम ज़ोन बना ज़िला, 12 घंटों में इंटरमीडिएट के छात्र समेत दो की हत्या

ये भी पढ़ें...सुल्तानपुर:रावण के पुतला दहन में सांडों ने मचाया उत्पात, टला हादसा

ये भी पढ़ें...‘कुशभवनपुर’ के नाम से जाना जाएगा सुल्तानपुर, देवमणि ने विधानसभा में रखा प्रस्ताव

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story