Top

मा[email protected]$%& मुकदमा वापस ले वरना मरेगा तू आैर तेरा लड़का, SSP के PRO बोले- बहुत बिजी हैं मैडम

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 4 Feb 2017 10:13 AM GMT

मा...@$%& मुकदमा वापस ले वरना मरेगा तू आैर तेरा लड़का, SSP के PRO बोले- बहुत बिजी हैं मैडम
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: राजधानी में अभी श्रवण साहू हत्‍याकांड हुए सप्‍ताह भर भी नहीं हुआ है, लेकिन अपराधियों के हौसले कितने बुलंद हैं, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि इतनी बड़ी वारदात के बावजूद सचिवालय में तैनात एक वरिष्‍ठ अधिकारी को अपराधियों द्वारा लगातार गाली देकर उसे और उसके बेटे को जान से मारने की धमकी दी जा रही है। इतना सब होने पर भी पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी हुई है। जब इस बारे में एसएसपी मंजिल सैनी से संपर्क करने का प्रयास किया गया तो उनके पीआरओ ने फोन उठाकर कहा कि मैडम बहुत व्‍यस्‍त हैं। अभी बात नहीं हो पाएगी। इसके चलते पीड़ित अपने घर को छोड़कर रिश्‍तेदारों के यहां शरण लेने पर मजबूर हैं।

परिवार पर हुआ था जानलेवा हमला

- राजधानी के बसेरा अपार्टमेंट, ठाकुरगंज में रहने वाले मोहम्‍मद असलम सचिवालय में समीक्षा अधिकारी के पद पर तैनात हैं।

- इनके परिवार पर 29 मार्च 2016 को कुछ अपराधियों ने जानलेवा हमला किया था।

- इसमें मो. असलम ने कामरान सईद, रेहान सिद्दीकी, शहजाद, शादाब, छोटू पंडित, सारिक- मलिक सहित 4 से 5 अज्ञात लोगों के खिलाफ एक मुकदमा उसी समय ठाकुरगंज में दर्ज करवाया गया था।

- इसके बाद से अब तक इन अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

मुकदमा वापसी का बन रहा दबाव

- पीड़ित ने बताया कि 1 फरवरी 2017 को प्रार्थी के सीयूजी नंबर पर 7985858205 से फोन आया था।

- इसके बाद से लगातार आधी रात में कई बार इसी नंबर से फोन अाया।

- इसमें से कोई भी कॉल प्रार्थी ने रिसीव नहीं की।

- इसके बाद 3 फरवरी को इसी नंबर से पीड़ित के मोबाइल नंबर पर एक मैसेज आया कि तू और तेरा लड़का मरेगा, वरना मुकदमा वापस ले ले।

-इसके बाद एक और मैसेज आया कि जब तक कोई मरेगा नहीं, तेरी समझ में नहीं आएगा।

- जिस दिन मौका मिला उस दिन लाश घर आएगी।

- पीड़ित नेे बताया कि यह सब कामरान और उसके साथी मुकदमा वापस लेने के लिए कर रहे हैं।

- इस संबंध में एक मुकदमा ठाकुरगंज थाने में आईपीसी की धारा 506 के अंतर्गत पंजीकृत किया गया ।

- लेकिन अभी तक अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। इससे पीडि़त और उसका पूरा परिवार डरा हुआ है।

एसएसपी के पीआरओ ने कहा- मैडम बहुत व्‍यस्‍त हैं

- इस केस के बारे में जानकारी देने के लिए जब एसएसपी से उनके मोबाइल नंबर पर संपर्क किया गया, तो फोन उनके पीआरओ ने उठाया।

- मामले की जानकारी देने पर कहा कि मैडम अभी बिजी हैं, बाद में बात हो पाएगी।

- गौरतलब है कि हाल ही में सआदतगंज में पुलिस की लापरवाही के चलते श्रवण साहू का एक भरा- पूरा परिवार तबाह हो गया।

- श्रवण साहू को सरेआम अपराधियों ने गोली से छलनी कर दिया था।

- लेकिन इतना सब होने पर भी लेडी सिंघम के नाम से मशहूर एसएसपी मंजिल सैनी के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही।

- आलम यह है कि उनका फोन उनके पीआरओ ही उठाकर आम जनता को टरका दे रहे हैं।

- ऐसे में राजधानी में एक बार फिर अफसरों की लापरवाही का ठीकरा इंस्‍पेक्‍टर और सीओ पर फोड़नेे की तैयारी है।

- लगता है कि राजधानी पुलिस को एक और बड़े हत्‍याकांड का इंतजार है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story