Top

असिस्टेंट कमिश्नर ने खरीदी सेक्स की दवा और उसके बाद तो बवाल हो गया भाई

प्रशासन को काफी समय से शहर में सेक्स पॉवर बढ़ाने वाली और नशीली दवाओं की खुलेआम बिक्री की शिकायत मिल रहीं थीं। हकीकत जानने के लिए असिस्टेंट कमिश्नर आरपी पांडेय ने शहर में दौरा किया और तिकोनिया बस स्टैंड पर कार रुकवाकर सरताज मेडिकल स्टोर पर पहुंच गए।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 3 Jan 2019 5:27 AM GMT

असिस्टेंट कमिश्नर ने खरीदी सेक्स की दवा और उसके बाद तो बवाल हो गया भाई
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुरादाबाद : प्रशासन को काफी समय से शहर में सेक्स पॉवर बढ़ाने वाली और नशीली दवाओं की खुलेआम बिक्री की शिकायत मिल रहीं थीं। हकीकत जानने के लिए असिस्टेंट कमिश्नर आरपी पांडेय ने शहर में दौरा किया और तिकोनिया बस स्टैंड पर कार रुकवाकर सरताज मेडिकल स्टोर पर पहुंच गए। उन्होंने मेडिकल स्टोर संचालक जावेद अहमद से सेक्स पॉवर बढ़ाने की दवाई मांगी।

ये भी देखें : जानिए आने वाले समय में कौन-कौन आ रही है पीरियड फिल्में, इनमें अजय का तोहफा कौन सा

जानिए फिर क्या हुआ

मेडिकल स्टोर संचालक ने पांडेय को 100 रुपए की दवा थमा दी। असिस्टेंट कमिश्नर ने दवाई जेब में रखकर अपने साथ आए अफसरों को इशारा किया। इसके बाद टीम मेडिकल स्टोर में गई और मेडिकल स्टोर से शक्तिवर्धक के साथ नशीली दवायां भी कब्जे में ले ली। इसके बाद पुलिस ने मेडिकल स्टोर संचालक को गिरफतार कर लिया।

ये भी देखें : लोकसभा इलेक्शन : गंगा मैया को छोड़ भगवान जगन्नाथ की शरण में पीएम मोदी !

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story