Top

Shamli Crime News : दरभंगा पार्सल ब्लास्ट मामले में कैराना से पुलिस ने दो संदिग्ध को पकड़ा

Shamli Crime News : बिहार के दरभंगा रेलवे स्टेशन पर 17 जून को कपड़े की गठरी में धमाका हुआ। केमिकल की एक शीशी रखी मिली।

Pankaj Prajapati

Pankaj PrajapatiReport Pankaj PrajapatiShraddhaPublished By Shraddha

Published on 25 Jun 2021 9:52 AM GMT

दरभंगा पार्सल ब्लास्ट मामले में पुलिस ने दो संदिग्ध को पकड़ा
X

दरभंगा पार्सल ब्लास्ट मामले में पुलिस ने दो संदिग्ध को पकड़ा 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Shamli Crime News : दरभंगा पार्सल ब्लास्ट (Darbhanga parcel blast) मामले में कैराना उस समय एक बार फिर सुर्खियों में आ गया जब पुलिस व एटीएस (ATS) की टीम ने 2 दिन पहले कैराना निवासी दो व्यक्तियों को उठा लिया। इस मामले में एटीएस व पुलिस की टीम ने दो संदिग्धों (two suspects) को पकड़ा है। उनसे पूछताछ जारी है। दोनों का इस ब्लास्ट से कनेक्शन पुष्ट हुआ है।

बता दें कि बिहार के दरभंगा रेलवे स्टेशन पर 17 जून को कपड़े की एक गठरी (पार्सल) में धमाका हुआ। कपड़ों के बीच केमिकल की एक शीशी रखी मिली। पार्सल भेजने वाले का नाम-पता सूफियान निवासी सिकंदराबाद (आंध्र प्रदेश) लिखा था, जबकि उस पर लिखा मोबाइल नंबर यूपी के शामली जिले के कैराना कस्बे का निकला।

शामली पुलिस ने इस प्रकरण में कैराना कस्बे के मोहल्ला बिस्तयान आल खुर्द निवासी सलीम उर्फ टुइया और कफील को पकड़ा है। दोनों से लंबी पूछताछ चल रही है। सूत्रों ने बताया कि दोनों संदिग्धों का पार्सल ब्लास्ट से कनेक्शन पाया गया है। इन दोनों का पूरे मामले में क्या रोल रहा, यह अभी पुलिस ने अधिकारिक तौर पर नहीं बताया है।

सूत्रों ने बताया कि यह बात भी पुष्ट हुई है कि कपड़ों की गठरी आंध्र प्रदेश के सिकंदराबाद से ही भेजी गई थी। एटीएस की टीम दोनों संदिग्धों से पूछताछ कर रही है। शामली पुलिस ने फिलहाल पुलिस के अलावा अन्य किसी भी सुरक्षा-खुफिया एजेंसियों को दोनों से दूर रखा गया है। वही कपिल के पिता शकील अहमद ने बताया कि उसका बेटा ने सहारनपुर की गोल्ड कंपनी के मसाले की एजेंसी ले रखी है तथा कैराना नगर व आसपास के बाजारों में मसाले सप्लाई करने का काम करता था। 2 दिन पहले उसे झिंझाना से पुलिस ने पकड़ा है लेकिन पुलिस द्वारा उनको यह नहीं बताया कि इस समय कफील कहां है।

उन्होंने बताया कि सलीम उर्फ टुइया उनका पड़ोसी है तथा सलीम के नीचे के मकान में उसके बेटे कफील ने मसालों का स्टॉक लगा रखा है उन्होंने बताया कि उसका दरभंगा ब्लास्ट मामले से कोई लेना देना नहीं है। कुछ दिन पूर्व उसका एक मोबाइल नंबर खो गया था। जिसकी उसने थाने पर एफ आई आर भी कराई थी। वही कफील के पिता ने बताया कि कफील आठवीं पास है और उसकी शादी हो चुकी है उसके दो बेटे व एक बेटी है।

Shraddha

Shraddha

Next Story