Top

मुन्‍ना बजरंगी के मर्डर से बढ़ने लगी इस शूटर की ताकत, एसटीएफ ने तेज की तलाश

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 13 July 2018 11:27 AM GMT

मुन्‍ना बजरंगी के मर्डर से बढ़ने लगी इस शूटर की ताकत, एसटीएफ ने तेज की तलाश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: डॉन मुन्‍ना बजरंगी के मर्डर के बाद उसके गैंग के सदस्‍य अब नया ठिकाना तलाश रहे हैं। मुन्‍ना बजरंगी के आंख-नाक-कान रहे गैंग मेंबर्स को अब पूर्वांचल के शार्प शूटर रईस बनारसी का साथ पसंद आ रहा है। जानकारी के मुताबिक मुन्‍ना बजरंगी की हत्‍या के बाद उसके गैंग के कई सदस्‍यों ने रईस बनारसी गैंग को ज्‍वाइन कर लिया है। हालांकि 50 हजार का ईनामी रईस अपना हुलिया बदलकर कानुपर और आस-पास के इलाकों में छिपा हुआ है। एसटीएफ भी डी- टू गैंग के इस शार्प शूटर की सरगर्मी से तलाश कर रही है। इसके लिए एसटीएफ की टीम ने कानपुर में डेरा डाल रखा है।

अचूक रहता है रईस का निशाना

अपराध जगत में रईस बनारसी का नाम बड़े शार्प शूटरों में शुमार है। ऐसा माना जाता है कि रईसा का निशाना अचूक रहता है। इसके अलावा डी-टू गैंग का सक्रिय सदस्‍य होने की वजह से उसका अलग दबदबा है। रईस का नेटवर्क कानपुर, बनारस, मुंबई, बिहार, दिल्‍ली सहित अन्‍य राज्‍यों में भी फैला है।

सुपारी किलर के नाम से पहचान

जिले के बेकनगंज के हीरामन का पुरवा में रहने वाले इश्तियाक अहमद का बेटा रईस अहमद उर्फ बनारसी पर सुपारी लेकर जनपद सहित कई जिलों में हत्या व फिरौती सहित रंगदारी के कई मामले दर्ज हैं। जनपद में कई थानों में रईस बनारसी के खिलाफ रंगदारी, फिरौती व हत्या सहित गंभीर धाराओं में तीन दर्जन से अधिक मामले दर्ज हैं।

मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद उसके सक्रिय सदस्य दीपक वर्मा ,राजकुमार उर्फ़ मामा बिंद समेत कई सदस्य रईस बनारसी के गैंग में शामिल हुए हैंl सुल्तानपुर ,बनारस ,लखनऊ ,इलाहबाद ,जौनपुर की जेलों में मुन्ना बजरंगी के गैंग के सदस्य बंद हैं, जेल में बंद सदस्यों ने रईस बनारसी से संपर्क साधा हैl

अंडरवर्ल्‍ड से है खास कनेक्‍शन

रईस बनारसी ने मुंबई ,दिल्ली में अंडरवर्ल्ड में मजबूत जड़े जमा रखी हैंl जानकारी के मुताबिक रईस बनारसी अपना हुलिया बदलकर बेकनगंज ,बाबुपुरवा ,माछरिया, बिधनू ,कानपुर देहात में छिपा हुआ हैl रईस नकाब और रिक्शा चलाकर पुलिस की आँखों में धूल झोक रहा है और खुलेआम घूम रहा हैl इसके साथ ही उसने अपनी पत्नी और गर्ल फ्रेंड को भी कानपुर में छिपा कर रखा हैl

रईस बनारसी की लोकल हिस्‍ट्रीशीटर भी मदद कर रहे हैं। उसे फाइनेंशियल मदद भी पहुंचाई जा रही हैl एसटीएफ के लिए रईस बनारसी चुनौती बन चुका है, अब एसटीएफ रईस बनारसी को पकड़ने के लिए डेरा जमाये है।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story