Top

सपा नेता के भाई को दिनदहाड़े गोलियों से भूना, पैसे की लेन-देन थी वजह

aman

amanBy aman

Published on 28 Aug 2016 3:25 PM GMT

सपा नेता के भाई को दिनदहाड़े गोलियों से भूना, पैसे की लेन-देन थी वजह
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बुलंदशहर: स्याना क्षेत्र में सपा नेता के भाई की गोली मारकर हत्या कर दी गई। वारदात की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। हत्या की वजह पैसे का लेन-देन बताया जा रहा है।

क्या था मामला ?

-स्याना थाना क्षेत्र के गांव बैरा वीहट की घटना।

-मृतक योगेश सपा के स्याना विधानसभा महासचिव नरेन्द्र त्यागी का भाई था।

-नरेंद्र ने पुलिस को बताया कि शुभम उर्फ सोनटी और योगेश अच्छे दोस्त थे।

-दोनों ने कुछ समय पहले गाजियाबाद के डासना इलाके में केबल बिछाने का काम किया था।

-लेकिन दोनों के बीच कुछ समय से पैसों को लेकर विवाद चल रहा था।

-मृतक के बड़े भाई ने ने शुभम उर्फ सोनटी सहित एक अज्ञात के खिलाफ स्याना थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है।

लाश के पास रोते-बिलखते परिजन लाश के पास रोते-बिलखते परिजन

ऐसे दिया वारदात को अंजाम

-स्थानीय निवासी योगेश का दोस्त शुभम उर्फ सोनटी रविवार सुबह उसे घर से बुलाकर ले गया।

-घर से कुछ दूर ले जाकर शुभम ने अपने एक साथी की मदद से योगेश को तीन गालियां मारी।

-इसके बाद वह वारदात स्थल से फरार हो गया।

फायरिंग कर फरार हुए अपराधी

-गोलियों की आवाज सुनकर मौके पर पहुंचे लोगों ने आरोपियों को पकडने की कोशिश की।

-लेकिन आरोपी हवाई फायरिंग करते हुए फरार हो गए।

-सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

bulandshahar.jpg-1.jpg-2

परिवार में कौन-कौन ?

-योगेश अपने घर में सबसे छोटा था।

-योगेश के एक बेटा यश (14 वर्ष) और एक बेटी परी (8 वर्ष) है।

-वारदात के बाद से मृतक के घर पर सपा नेताओं का तांता लगा हुआ है।

क्या कहा थाना इंचार्ज ने ?

स्याना थाना इंचार्ज दिनेश वशिष्ठ ने बताया कि मृतक के भाई ने शुभम उर्फ़ सोनटी और एक अज्ञात को नामजद करते हुए तहरीर दी है। आरोपियों को जल्दी अरेस्ट कर लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि मृतक योगेश और शुभम के बीच लेन-देन को लेकर काफी समय से विवाद चल रहा था।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story