Top

पारा डबल मर्डर: फिर थर्रा उठी राजधानी, दिनदहाड़े घर में चाकुओं से गोद कर सगी बहनों की हत्या

एलबी सिंह घर के दरवाजे पर पहुंचे तो दरवाज़ा खुला देख कर चौंके। किसी अनहोनी की आशंका के साथ उन्होंने भीतर कदम रखा तो दोनों बेटियों के खून से लथपथ शव देख कर माता-पिता पछाड़ खाकर गिर पड़े। दोनों बेटियों, 24 वर्ष की आरती सिंह और 17 साल की अंतिमा सिंह की चाकुओं से गोद कर हत्या कर दी गई थी।

zafar

zafarBy zafar

Published on 9 May 2017 10:13 AM GMT

पारा डबल मर्डर: फिर थर्रा उठी राजधानी, दिनदहाड़े घर में चाकुओं से गोद कर सगी बहनों की हत्या
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: बहुप्रचारित तेज़ तर्रार आईपीएस अफसरों की तैनाती भी राजधानी लखनऊ की कानून व्यवस्था संभालने में नाकाम साबित हो रही है। यूपी पुलिस के मुखिया से लेकर शहर के एसएसपी तक बदल दिए गए हैं, लेकिन अपराधों पर काबू पाने की सारी कवायद अब तक बेअसर साबित हुई हैं।

एक तरफ राजधानी लखनऊ के पुलिस मुखिया newstrack.com से बातचीत में कानून व्यवस्था सुधारने के प्रयासों की बात कर रहे हैं, तो दूसरी तरफ ताबड़तोड़ आपराधिक वारदातों से तहजीब के इस शहर पर खौफ का साया फैलता जा रहा है।

सगी बहनों की हत्या

पारा में दिनदहाड़े हुए डबल मर्डर से राजधानी में सनसनी फैल गई है। घटना के मुताबिक रिटायर फ़ौजी एलबी सिंह सुबह सुबह अपनी बीमार पत्नी को लेकर हॉस्पिटल गए थे। लेकिन हॉस्पिटल से लौटे तो घर का मंज़र ही बदल चुका था। एलबी सिंह घर के दरवाजे पर पहुंचे तो दरवाज़ा खुला देख कर चौंके।

आगे की स्लाइड्स में पढ़िये पूरी खबर...

किसी अनहोनी की आशंका के साथ उन्होंने भीतर कदम रखा तो उनकी आशंका सच में बदल गई। अपने घर की रौनक दोनों बेटियों के खून से लथपथ शव देख कर माता-पिता पछाड़ खाकर गिर पड़े। दोनों बेटियों, 24 वर्ष की आरती सिंह और 17 साल की अंतिमा सिंह की चाकुओं से गोद कर हत्या कर दी गई थी। सुबह जिन बेटियों को मां-बाप घर सहेज कर हंसता-मुस्कराता छोड़ कर गए थे, अब सामने उनकी लाशें थीं और जिंदगी भर का मातम था।

यह भी पढ़ें...लखनऊ एसएसपी दीपक कुमार ने दिए न्यूज़ ट्रैक के सवालों के जवाब, कुछ सीधे तो कुछ गोल

पलक झपकते लुटा घर

जवान बेटियों की लाश सामने देख मां-बाप पर जैसे गम का पहाड़ टूट पड़ा। बेटियों की मौत ने पलक झपकते इस घर का सब कुछ लूट लिया। एलबी सिंह की पत्नी बदहवासी की हालत में गश खा कर गिर गईं। चीख पुकार सुन कर पड़ोसी जमा हो गये। पुलिस को खबर दी गई। अफरातफरी के आलम में ही बेहोश मां को पड़ोसियों की मदद से हॉस्पिटल पहुंचाया गया।

राजधानी की राम विहार कॉलोनी में हुई इस सनसनीखेज़ वारदात से इलाक़े में दहशत फैल गई। जिसने भी दिनदहाड़े डबल मर्डर की बात सुनी, उसके चेहरे पर खौफ झलकने लगा। खौफजदा लोगों ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। रिटायर फ़ौजी की बेटियों की ह्त्या की खबर मिलने के बाद स्थानीय पारा थाने की पुलिस ने मौके पर पहुंच कर लाश को क़ब्ज़े में लिया और पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया।

यह भी पढ़ें...यूपी की जेलों में बंद हैं सजा ए मौत के 69 कैदी, फंदे पर लटकने का है इंतजार

हैरत की बात है कि इस सनसनीखेज वारदात के बाद भी एसएसपी दीपक कुमार मौका ए वारदात पर नहीं पहुंचे। बता दें, कि राजधानी लखनऊ हाल में कई सनसनीखेज घटनाओं का गवाह बन चुकी है।

आगे स्लाइड्स में हाल की आपराधिक घटनाएं...

राजधानी की कुछ बड़ी घटनाएं

इंदिरानगर में मां-बेटी की गला काट कर हत्या

तारावती 58 वर्ष और अनामिका 22 वर्ष का गला काट दिया।

गोमतीनगर में चमन लाल दिवाकर के घर डकैती

कृष्णानगर में मोनिका सिंह को गोली मारी गई

गोसाईगंज में जगन्नाथ विश्वकर्मा की गोली मार कर हत्या

zafar

zafar

Next Story