Top

Terrorist News : पाकिस्तान-बांग्लादेश सहित कश्मीर से जुड़े हो सकते लखनऊ आतंकियों के तार

Terrorist News :उमर हलमंडी पाकिस्तान-अफगानिस्तान बॉर्डर क्षेत्र से आतंकी गतिविधियां चलाता है। उमर हलमंडी द्वारा भारत में आतंकियों की भर्ती करने और उन्हें रेडिक्लाइज करने का काम किया जा रहा था।

Sushil Shukla

Sushil ShuklaBy Sushil Shukla

Published on 12 July 2021 9:17 AM GMT

पाकिस्तान-बांग्लादेश सहित कश्मीर से जुड़े हो सकते लखनऊ आतंकियों के तार
X

लखनऊ में पकड़े गए आतंकी

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Terrorist News : लखनऊ में पकड़े गए आतंकवादियों के तार कश्मीर सहित पाकिस्तान और बांग्लादेश से जुड़े हो सकते हैं। दोनों आतंकी अलकायदा के संगठन से जुड़े हैं। एडीजी प्रशांत कुमार ने बताया, 'उमर हलमंडी नामक हैंडलर को भारत में आतंकवादी गतिविधियों को संचालित करने के लिए निर्देश दिए गए थे। उमर हलमंडी पाकिस्तान-अफगानिस्तान बॉर्डर क्षेत्र से आतंकी गतिविधियां चलाता है। उमर हलमंडी द्वारा भारत में आतंकियों की भर्ती करने और उन्हें रेडिक्लाइज करने का काम किया जा रहा था। उसने कुछ जिहादी प्रवृत्ति के लोगों को लखनऊ में चिन्हित और नियुक्त करके अल-कायदा के मॉड्यूल को खड़ा किया। इस नेटवर्क के मेन गुर्गों में मिन्हाज, मसीरुद्दीन व शकील का नाम सामने आया है।' उधर, कोलकाता पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने रविवार को बांग्लादेशी आतंकी संगठन जमात-उल-मुजाहिदीन (Jamaat-ul-Mujahideen) के तीन संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया है। तीनों की पहचान बांग्लादेश के गोपालगंज के वाशिंदे के रूप में हुई है। उधर, एनआईए के सूत्रों के मुताबिक रविवार सुबह करीब सात बजे ही एनआईए की टीम ने श्रीनगर, अनंतनाग, बारामुला, अवंतीपुरा, अचाबल, मगरे मोहल्ला, संसुन्न, पुछरू, दलाल मोहल्ला, दारुल उलूम इलाका, नवाबजार सहित अन्य लोकेशन पर मौके पर छापेमारी की कार्रवाई को अंजाम दिया। हालांकि एनआईए की टीम ने शनिवार देर रात को ही सर्च लोकेशन के आसपास मूवमेंट करके उस इलाके को एक सुरक्षित घेरा बना चुकी थी। आतंकियों के साहित्य कनेक्शन और भारत देश के पड़ोसी देश से आतंकियों के इस खतरनाक ऑपरेशन से जुड़े मामले की पड़ताल के लिए एनआईए ने करीब 10 दिनों पहले एक एफआईआर दर्ज की थी। इसी मामले में अदनान अहमद नदवी नाम के एक आरोपी को भी एनआईए गिरफ्तार करके उससे कश्मीर से लेकर उत्तरप्रदेश के लखनऊ तक के कनेक्शन को जानने का प्रयास कर रही है।


दिल्ली पुलिस करेगी पूछताछ

यूपी से पकड़े गए इन आतंकियों से दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल (Delhi Police Special Cell) की एक टीम भी पूछताछ करेगी, जो अगले दो दिन के भीतर लखनऊ के लिए रवाना हो जाएगी।

देशभर की सुरक्षा एजेंसियां हुई अलर्ट

लखनऊ में आंतकियों के पकड़े जाने की खबर के बाद देश भर की सुरक्षिया अलर्ट हैं। जम्मू-कश्मीर (Jammu&Kashmir) से लेकर देश के बाकी हिस्सों में भी बड़े पैमाने पर ऑपरेशन चलाया जा रहा है। दिल्ली, पंजाब, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल तक भारतीय सुरक्षा एजेंसियां तेजी से जांच को आगे बढ़ा रही हैं। कानपुर में भी बड़े पैमाने पर आतंकी नेटवर्क को खंगाला जा रहा है। लखनऊ कमिश्नरेट इलाके के साथ-साथ हरदोई, सीतापुर, बाराबंकी, उन्नाव एवं रायबरेली के अलावा पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई जिलों में भी अलर्ट जारी किया गया है। सूत्रों के अनुसार, यूपी एटीएस ने जिस घर में छापा मारा था, उसमें 7 लोग रह रहे थे, जिसके बाद पांच लोगों के वहां से भागने में सफल रहे थे। जिसके बाद एटीएस ने आसपास के जिलों में अलर्ट जारी किया था।

मध्य प्रदेश में रेड अलर्ट

लखनऊ में पकड़े गए आतंकवादियों के बाद मध्य प्रदेश में रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है। प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि उत्तर प्रदेश और जम्मू को ध्यान में रखते हुए पूरे मध्य प्रदेश में रेड अलर्ट कर दिया गया है। इसके लिए डीजीपी को आदेश दे दिए गए हैं।

उमर अल मंडी अलकायदा के यूपी मॉड्यूल का मुखिया

बता दें कि अंसार गजवातुल भारत में अलकायदा का ग्रुप है। हैंडलर का नाम उमर अल मंडी है, जिसका प्रमुख मूसा कश्मीर में मारा जा चुका है। पुलिस के मुताबिक उमर अल मंडी अलकायदा के यूपी मॉड्यूल का मुखिया है। बताया जा रहा है कि उमर अल मंडी का संबंध यूपी के संभल से है, इसलिए वहां भी उससे जुड़े सुरागों की छानबीन शुरू हो गई है।

एक दिन पहले कोलकाता में पकड़े गए थे तीन आतंकी


कोलकाता पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने रविवार को बांग्लादेशी आतंकी संगठन जमात-उल-मुजाहिदीन (JMB) के तीन संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया। तीनों की पहचान बांग्लादेश के गोपालगंज के वाशिंदे के रूप में हुई। एसटीएफ ने गुप्त सूचना के आधार पर दक्षिण कोलकाता के अलीपुर क्षेत्र के एमजी रोड इलाके में सघन तलाशी अभियान चलाने के बाद रविवार दोपहर तीनों को दबोच लिया। गिरफ्तार आतंकियों के नाम नाजीउर रहमान उर्फ जयराम, शेख शब्बीर उर्फ निखिल कांत और व रबीउल इस्लाम बताया गया है। ये तीनों मच्छरदानी व फल बेचा करते थे। पिछले दो माह से कोलकाता में रह रहे थे। एसटीएफ की उपायुक्त अपराजिता राय ने बताया कि ये तीनों जेएमबी के लिए फंड और भर्ती का कार्य कर रहे थे। नाजीउर बांग्लादेश के जेल में कुछ समय बंद था। इन लोगों के पास से एक डायरी और जिहादी समाग्री व मोबाइल फोन मिले हैं। डायरी में कई जेएमबी कमांडरों के नाम व नंबर है।स्पेशल टास्क फोर्स के मुताबिक ये तीनों जेएमबी के नए माड्यूल से जुड़े हो सकते हैं और ये स्लीपर सेल के सदस्य हैं। पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि वे कोलकाता क्यों आए और यहां कैसे पहुंचे। और कितने लोग महानगर में जेएमबी स्लीपर सेल के रूप में सक्रिय हैं। इन लोगों को यहां कौन मदद कर रहा है।

Sushil Shukla

Sushil Shukla

Next Story