Top

आतंकी गौस की करतूत पर शर्मिंदा है गांव, पुलिस और खुफिया तंत्र पर भी सवाल

आतंकी गतिविधियों में लिप्त गौस मोहम्मद का रायबरेली में लगातार आना जाना बना हुआ था। लेकिन पुलिस और ख़ुफ़िया विभाग को कभी इसकी भनक नहीं लग सकी। अब पुलिस और ख़ुफ़िया तंत्र सवाल खड़े हो रहे है।

zafar

zafarBy zafar

Published on 10 March 2017 12:55 PM GMT

आतंकी गौस की करतूत पर शर्मिंदा है गांव, पुलिस और खुफिया तंत्र पर भी सवाल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

आतंकी गौस की करतूत पर शर्मिंदा है गांव, पुलिस और खुफिया तंत्र पर भी सवाल

लखनऊ: प्रदेश की राजधानी में मारे गये आतंकवादी सैफुल्ला और पकड़े गये अन्य आतंकवादियों से पूछताछ और पड़ताल के बाद जांच एजेंसियों ने एक और संदिग्ध आतंकी दबोचा है। यूपी एटीएस द्वारा गुरुवार को पकड़ा गया गौस मोहम्मद खान राजधानी से सटे रायबरेली का रहने वाला है। इसे ही संगठन का सरगना बताया जा रहा है। गौस का पैतृक आवास रायबरेली के महराजगंज थाना क्षेत्र के बराउहा गांव में है। हालांकि, लंबे समय से उसके परिवार की गैर मौजूदगी में यह घर खंडहर में तब्दील हो गया है।

पुलिस पर सवाल

आतंकी गतिविधियों में लिप्त गौस मोहम्मद का रायबरेली में लगातार आना जाना बना हुआ था।

लेकिन जिले की पुलिस और ख़ुफ़िया विभाग को कभी इसकी भनक नहीं लग सकी।

अब एटीएस द्वारा पकडे गए आतंकी के तार रायबरेली से जुड़े होने की जानकारी के बाद जिले की पुलिस और ख़ुफ़िया तंत्र पर सवाल खड़े हो रहे है।

बराऊहा गांव निवासी यार मोहम्मद, संदिग्ध आतंकी गौस मोहम्मद के भाई हैं लेकिन इनका उससे कोई लेना देना नहीं है।

गौस मोहम्मद के आतंकी गतिविधि में शामिल होने की जानकारी पर भाई और पूरा गांव शर्मिंदा है।

यार मोहम्मद ने कहा कि जो देश का नहीं हो सकता, वह किसी का नहीं हो सकता।

मिटाना है दाग

पूरा बराउहा गांव गौस मोहम्मद खान के आतंकी होने की खबर पर सकते में है।

गांव वाले इस बात पर भरोसा नहीं कर पा रहे हैं कि इंडियन एयर फ़ोर्स से रिटायर गौस मोहम्मद आतंकवादी बन गया है।

गांव वालों ने आतंकियों और सारे मामले की गहरी जांच की मांग की है।

गांव के प्रधान राजेश तिवारी का कहना है कि वे गांव के नाम पर लगे इस दाग को मिटाना चाहते हैं और चाहते हैं कि फिर कोई गौस मोहम्मद न पैदा हो।

आगे स्लाइड्स में देखिये कुछ और फोटोज...

आतंकी गौस की करतूत पर शर्मिंदा है गांव, पुलिस और खुफिया तंत्र पर भी सवाल

आतंकी गौस की करतूत पर शर्मिंदा है गांव, पुलिस और खुफिया तंत्र पर भी सवाल

आतंकी गौस की करतूत पर शर्मिंदा है गांव, पुलिस और खुफिया तंत्र पर भी सवाल

zafar

zafar

Next Story