Top

बुलंदशहर हिंसा : सेना के जवान ने मारी थी शहीद इंस्पेक्टर को गोली

बुलंदशहर हिंसा में एसआईटी और एसटीएफ की जांच में सामने आया है कि शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को जम्मू में तैनात सेना के एक जवान ने गोली मारी थी। बताया जा रहा कि ये जवान छुट्टी पर आया था। सुबोध को उसने अपनी अवैध पिस्टल से गोली मारी और इसके बाद जम्मू भाग गया।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 7 Dec 2018 4:16 AM GMT

बुलंदशहर हिंसा : सेना के जवान ने मारी थी शहीद इंस्पेक्टर को गोली
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : बुलंदशहर हिंसा में एसआईटी और एसटीएफ की जांच में सामने आया है कि शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को जम्मू में तैनात सेना के एक जवान ने गोली मारी थी। बताया जा रहा कि ये जवान छुट्टी पर आया था। सुबोध को उसने अपनी अवैध पिस्टल से गोली मारी और इसके बाद जम्मू भाग गया।

ये भी देखें : बुलंदशहर हिंसा: PM रिपोर्ट से खुलासा,गोली लगने से हुई थी इंस्पेक्टर सुबोध की मौत

कैसे खुला राज

पुलिस को एक वीडियो मिला है, जिसमें एक व्यक्ति भीड़ में गोली चलाता दिखाई दे रहा है। जांच में पता चला कि ये सेना का जवान है और जम्मू में तैनात है। इसके बाद पुलिस ने इस जवान की यूनिट को इस बारे में सूचना दी और उसकी गिरफ्तारी के लिए एक टीम जम्मू रवाना हो गई।

ये भी देखें : बुलंदशहर हिंसा के मुख्य आरोपी ने वीडियो जारी कर दी सफाई,कहा-घटनास्थल पर था ही नहीं

अभीतक क्या किया पुलिस ने

इस मामले में 27 को नामजद किया गया है वहीं 250 से 300 अज्ञात के खिलाफ भी मामला दर्ज हुआ है। पुलिस के पास इस समय हिंसा से जुड़े लगभग 203 वीडियो हैं, जिनकी गहनता से जांच हो रही है ताकि पता चल सके कि बवाल कैसे शुरू हुआ और किनकी संलिप्तता रही है हिंसा फैलाने में।

पुलिस के हमारे सूत्रों ने बताया कि एक अहम वीडियो हाथ लगा है जिसकी जांच के बाद हमें पता चल सकता है कि सुमित को किसकी गोली लगी।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story