ज्योतिष की आड़ में करता था तस्करी का धंधा, बड़ी मात्रा में वन्य जीवों के अंग बरामद

Published by Published: June 23, 2017 | 12:12 pm
Modified: June 23, 2017 | 12:13 pm
meerut

मेरठ: वन विभाग की टीम ने मेरठ में नोएडा से एक ज्योतिषाचार्य के यहां छापा मारा है। बताया जा रहा है कि उसके घर में बड़ी मात्रा में वन्य जीवों के अंग मिले हैं। ​वन विभाग की टीम ने उसके केंद्रीय विहार सेक्टर-82 नोएडा से छापा मारकर गिरफ्तार किया है।

क्या है पूरा मामला
-वन विभाग के मुख्य संरक्षण मुकेश कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी के पास से वन्य जीवों के अंग बरामद किए गए है।
-आरोपी के यहां से इंद्रजाल, सियार सिंघी समेत कई दुर्लभ वन्य जीवों के अंग शामिल है।
-वन विभाग की टीम ने ज्योतिष की दुकान और गोदाम पर रखे सामान को अपने कब्जे में लेते हुए पूछताछ शुरू कर दी है।
-मुख्य वन संरक्षण मुकेश कुमार ने बताया है कि आरोपी के पास से जो सामान बरामद हुआ है, वह करोड़ों की कीमत का है।

यह भी पढ़ें: रिटायर्ड कर्नल के घर छापा, जानवरों के अंगों समेत 1 करोड़ कैश बरामद, बेटा है नेशनल शूटर

-आरोपी ज्योतिष आचार्य कालकी कृष्णन तंत्र-मंत्र की आड़ में धंधा करता था। जिसकी बिक्री वह आॅनलाइन किया करता था।

-वन अधिकारियों ने बताया कि ज्योतिष के आवास और गोदाम से प्रतिबंधित जीव बड़ी छिपकली के प्राइवेट पार्ट्स, सियार सिंघी, इंद्रजाल और अन्य सामान बरामद हुआ है।
-कंपयूटर की साइबर सेल की मदद से आॅनलाइन ट्रेडिंग किए गए जीवों का खुलासा किया गया है।
-अधिकारियों के मुताबिक ज्योतिष कालकी कृष्णन कस्टम डिपार्टमेंट में इंस्पेक्टर था।
-लेकिन वहां से उसे रिश्वत लेने के मामले में बर्खास्त कर दिया गया था।
-इसके बाद उसने अपने आपको ज्योतिषाचार्य घोषित कर वन्य जीवों के अंगों की तस्करी में लग गया।

प्रशांत विश्नोई से जुड़े हैं तार
-मेरठ में पिछले दिनों पकडे गए शूटर प्रशांत विश्नोई से संबध हैं।
-गौरतलब है कि करीब दो माह पहले डीआरआई की टीम ने छापेमारी करते हुए विदेशी हथियारों और वन्य जीवों को पकडा था।
-अधिकारियों के मुताबिक प्रशांत बिश्नोई के यहां से बरामद कॉल डिटेल से ज्योतिष का मोबाइल नंबर सामने आया है।
-प्रशांत ​बिश्नोई और पकडे गए ज्योतिष की बातचीत होनी सामने आई है।

आगे की स्लाइड में जानिए आखिर कब हुए इस फ्रॉड ज्योतिष का खुलासा

meerut-crime-case

पत्रकार वार्ता में खुलासा
-मुख्य वन संरक्षक मुकेश कुमार ने पत्रकार वार्ता के दौरान बताया जिला वन अधिकारी एचवी गिरीश व क्षेत्रीय वनाधिकारी दादरी के नेतृत्व में टीम ने अंसल फॉरचून आर्केड सेक्टर-18 नोएडा स्थित ओदेवम् नामक दुकान पर छापा मारा।
-प्रतिबंधित वन्य जीवों के अंग मिलने के बाद टीम ने दुकान मालिक ज्योतिष आचार्य कालकी कृष्ण पुत्र रमेश चन्द्र कृष्ण गिरफ्तार किया है।
-टीम ने प्रतिबंधित वन्य जीवों से संबधित 25 हत्था जोड़ी, 28 इन्द्रजाल, 27 सियार सिंघी व काफी संख्या में शंख बरामद किए है।

-सियार सिंघी सियार के नाखून व बाल का बनाया जाता है। जो कि तांत्रिक क्रिया में इस्तेमाल होता है।
-यह तांत्रिक वशीकरण में बहुपयोगी बताकर हजारों रूपयें में इनको बेचते है।
-इंद्रजाल सुमंद्री जीव का अंग है। इसकों वह तंत्र मंत्र में इस्तेमाल करते हैं।
-फिलहाल आरोपी के खिलाफ वन्य जीव संरक्षण अधिनियम 1972 के अंतर्गत कार्रवाई की जा रही है।