Top

बंधक बना कर दो नाबालिग बहनों से गैंगरेप, पुलिस दो दिन तक करती रही लीपापोती

मौसेरी बहनें सुबह राशन लेने डिपो पर गई थीं। डीलर के बेटे ने यह कह कर उन्हें वापस कर दिया कि राशन खत्म हो गया है, शाम तक आ जाएगा। शाम को राशन डीलर ने दोनों बहनों को फोन करके राशन लेने के लिए बुला लिया और तमंचा लगाकर दोनों को अंदर खींच लिया।

zafar

zafarBy zafar

Published on 24 May 2017 11:28 PM GMT

बंधक बना कर दो नाबालिग बहनों से गैंगरेप, पुलिस दो दिन तक करती रही लीपापोती
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुजफ्फरनगर: दो नाबालिग बहनों को बंधक बनाकर आधा दर्जन युवकों द्वारा गैंगरेप का मामला सामने आने से इलाके में हड़कंप मच गया। आरोप है कि गांव के राशन डीलर ने राशन देने के बहाने दोनों किशोरियों को फोन करके बुला लिया और फिर तमंचे के बल पर एक बंद मकान में रात भर बंधक बना कर अपने 5 अन्य साथियों के साथ गैंगरेप किया।

राशन के बहाने रेप

इन नाबालिग बहनों को सुबह के वक्त ग्रामीणों ने सड़क पर अचेत अवस्था में पड़ा पाया था।

पीड़ित परिवार ने मामले में पुलिस से फरियाद की लेकिन पुलिस 2 दिन तक मामले में लीपापोती करती रही।

पीड़ित परिवार की त्रासदी मीडिया में पहुंची तो पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ गैंगरेप का मुकदमा दर्ज कर पीड़ित युवतियों को मेडिकल परीक्षण के लिए भेजा।

मामला दो समुदायों से जुड़ा होने के कारण इलाके में स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है।

यह भी पढ़ें...नाबालिग छात्रा को रास्ते से अगवा कर रेप की कोशिश, ग्रामीणों ने पुलिस को सौंपा

थाना मंसूरपुर इलाके के एक गांव की मौसेरी बहनें सुबह राशन लेने डिपो पर गई थीं।

डीलर के बेटे ने यह कह कर उन्हें वापस कर दिया कि राशन खत्म हो गया है, शाम तक आ जाएगा।

शाम को राशन डीलर ने दोनों बहनों को फोन करके राशन लेने के लिए बुला लिया।

जैसे ही दोनों बहने राशन डिपो पर पहुंची तो डीलर के बेटे ने तमंचा लगाकर दोनों को अंदर खींच लिया।

यह भी पढ़ें...गैंगरेप और धमकी मामला: गायत्री के दोनों साथियों का पॉक्सो कोर्ट में सरेंडर, भेजे गये जेल

पुलिस करती रही लीपापोती

आरोपी ने इस बीच अपने पांच अन्य दोस्तों को भी बुला लिया और दोनों बहनों के साथ रात भर गैंग रेप किया।

सुबह दोनों बहनें ग्रामीणों की मदद से किसी तरह घर पहुंचीं और परिवार को पूरी घटना की जानकारी दी। पीड़िताओं ने 6 लड़कों के नाम बताये हैं।

पुलिस सारे मामले को फर्जी बता कर शुरू में पीड़ित परिवार को टरकाती रही, लेकिन मीडिया के दबाव में उसने मामला दर्ज कर लिया।

पीड़िता के पिता ने कहा कि पुलिस हम पर ही दबाव बना रही है। पीड़िताएं और उनका परिवार न्याय की गुहार लगा रहे हैं।

यह भी पढ़ें...लड़की से रेप, हत्या मामला: पीस पार्टी के अध्यक्ष डॉ. अयूब गिरफ्तार, भेजे गए जेल

एसपी सिटी राजेश कुमार ने कहा कि मामला मंसूरपुर थाने में दर्ज किया गया है मेडिकल रिपोर्ट प्राप्त होते ही अभियुक्तों पर कार्रवाई की जाएगी।

ग्राम प्रधान देवराज त्यागी ने कहा कि इन अभियुक्तों को ऐसा सबक सिखाया जाय कि गांव में फिर ऐसा दोबारा ना हो।

उन्होंने यह भी कहा कि बलात्कारियों का सामाजिक बहिष्कार हो।

zafar

zafar

Next Story