Top

दो कछुआ तस्कर गिरफ्तार, दुर्लभ प्रजाति के 222 कछुए बरामद

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 18 Sep 2017 11:41 AM GMT

दो कछुआ तस्कर गिरफ्तार, दुर्लभ प्रजाति के 222 कछुए बरामद
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: कानपुर रेलवे स्टेशन पर जीआरपी ने एक दम्पति को पकड़ा है जो बड़ी संख्या में कछुओं को लेकर कोलकाता जा रहे थेl जब जीआरपी ने इनके बैग की तलाशी ली तो तीन बैग्स में दुर्लभ प्रजाति के कछुए मिले हैl इनका प्रयोग सेक्स पावर बढ़ाने वाली ड्रग्स में किया जाता हैl जीआरपी ने पति पत्नी पर मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया है और कछुओं को वन विभाग के सुपुर्द कर दिया गयाl

ये भी देखें:नवरात्रि स्पेशल: दुर्गा सप्तशती के यह 13 रहस्य खोल देंगे आपकी किस्मत के द्वार

स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक पर संदिग्ध हरकतें करते हुए एक व्यक्ति नजर आयाl जब जीआरपी के सिपाही उसकी तरफ बढे तो वह बैग लेकर पत्नी के साथ भागने लगाl सिपाहियों ने दोनों को दौड़ा कर पकड़ लियाl जब उनके बैग की तलाशी ली गई तो सिपाही हैरान रह गए बैग में बड़ी मात्रा में दुर्लभ कछुए थेl पूछताछ में पता चला कि ये दोनों उन्नाव के शुक्लागंज के रहने वाले मुस्तकीन और उसकी पत्नी हाजरा हैं, जो इन कछुओं को लेकर कोलकाता जा रहे थेl

ये भी देखें:पेट्रो कीमतों पर घिरने लगी मोदी सरकार, अब BJD ने की हड़ताल

सीओ जीआरपी राजेश कुमार द्विवेदी के मुताबिक प्लेट फार्म नंबर एक से इस दम्पति को पकड़ा गया है l इनके पास से 222 कछुए बरामद हुए है जानकारी के मुताबिक यह कछुए कोलकाता में बेचे जाते है ,इसके बाद इनकी सप्लाई विदेशो में की जाती है l

ये भी देखें:PM मोदी के करीबी ने कहा- ‘अच्छे दिन’ की रोजाना हो रही है हत्या

आरोपी मुस्तकीन ने बताया हमने इन कछुओं को बड़ी मेहनत से पकड़ा है इन्हें पकड़ कर हम कोलकाता ले जा रहे थे l इसके बदले वहां एक व्यक्ति हमें मोटी रकम देता है l

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story