Top

Unnao News: पथराव से बचने के लिए पुलिस ने टोकरी-स्टूल को बनाया कवच, IG ने किया सस्पेंड

Ajay Kumar

Ajay KumarReporter Ajay KumarAshiki PatelPublished By Ashiki Patel

Published on 17 Jun 2021 8:04 AM GMT

Unnao News: पथराव से बचने के लिए पुलिस ने टोकरी-स्टूल को बनाया कवच, IG ने किया सस्पेंड
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Unnao News: कानपुर के बिकरू कांड में पुलिस कर्मियों को खोने के बाद भी यूपी पुलिस सबक लेने को तैयार नहीं है। कुछ ऐसी घटना बीते दिन उन्नाव जिले में हुई, जब सड़क हादसे में दो युवकों की मौत के दूसरे दिन बुधवार को उपद्रव कर रहे ग्रामीणों से निपटने पुलिस बिना सुरक्षा संसाधनों के खाली हाथ पहुंच गई। उन्नाव में उपद्रव के दौरान खुद की सुरक्षा के लिए पुलिस के सिर पर हेलमेट के बजाय प्लास्टिक स्टूल और हाथों में लकड़ी की टोकरी दिखी। इससे अफसरों और पुलिस कर्मियों को भागकर खुद की जान बचानी पड़ी।

इंस्पेक्टर, चौकी इंचार्ज समेत 4 सस्पेंड

तीन घंटे तक चले बवाल, पथराव और तोड़फोड़ में दारोगा समेत 15 पुलिसकर्मी घायल हो गए। अब उन्नाव पुलिस की टोकरी व स्टूल के सहारे खुद के बचाव की तस्वीरें वायरल हो रही हैं। अब इस मामले में लापरवाही पर आईजी रेंज लक्ष्मी सिंह ने सदर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक, चौकी इंचार्ज के अलावा बॉडी प्रोटेक्टर न पहनने वाले दोनों पुलिस कर्मियों को सस्पेंड किया है। वहीं सीओ सिटी से स्पष्टीकरण तलब किया है। आईजी ने जांच एएसपी रायबरेली को दी है।


क्या है पूरा मामला

उन्नाव में शुक्लागंज मार्ग में बीते दिन मंगलवार को तेज रफ्तार से जा रही एक कार ने बाइक सवार युवकों को जोरदार टक्कर मार दी थी। जिसमें दोनों युवकों की मौत हो गई। पूरे परिवार में मातम मच गया। जिसके बाद आज युवक के परिजनों ने दोनों शव को रखकर मार्ग जाम किया। इस दौरान सड़क मार्ग जाम कर हंगामा कर रहे लोगों को समझाने के लिए पुलिस मौके पर पहुंची। ये मामला उन्नाव सदर कोतवाली के अकरमपुर का है। सड़क जाम पर बैठे परिजनों और ग्रामीणों को समझाने के लिए पुलिस गई। तो परिजनों ने पुलिस की एक भी नहीं सुनी, और उल्टा पुलिस पर जमकर पथराव किया। इस दौरान कई पुलिस कर्मियों को गंभीर चोटें आ गई। वहीं हालातों पर काबू पाने के लिए पुलिस ने ग्रामीणों पर लाठीचार्ज किया।



ग्रामीण उग्र हो गए

दरअसल बीते दिन 15 जून को शहर कोतवाली के गांव देवी खेड़ा निवासी दो युवकों की अकरमपुर में सड़क हादसे में मौत हो गई। जिसके बाद युवकों के परिजनों व ग्रामीणों ने मुआवजे की मांग को लेकर जिला अस्पताल के सामने जाम लगाया था। ऐसे में आज परीक्षण के बाद शव जब गांव पहुंचे तो ग्रामीणों व परिजनों ने पुनः मुआवजे की मांग को लेकर शुक्लागंज उन्नाव पुराने राजमार्ग पर मगरवारा मे शवों को रखकर जाम लगा दिया। इस दौरान एसडीएम, सीओ ने समझाने का प्रयास किया तो ग्रामीण उग्र कर पथराव कर दिया, जिसमें कई पुलिसकर्मी घायल हो गए।

मामले के बारे में बताया जा रहा कि बाइक सवार युवकों में से एक की बहन की दो दिन बाद शादी है, जिसके लिए दोनों युवक सामान लेने जा रहे थे। सामान ले जाते वक्त वे दोनों हादसे का शिकार हो गए। तभी मौके देखकर कार सवार वहां से भागने में कामयाब हो गया। हालाकिं पुलिस ने कार व बाइक को कब्जे में लेकर जांच शुरू करना शुरू कर दिया है।

भाग गया कार सवार इस मामले में सदर कोतवाली अंतर्गत मगरवारा चौकी क्षेत्र के गांव देवी खेड़ा के रहने वाले राजेश उर्फ यारो पुत्र स्वर्गीय बुद्धीलाल गांव निवासी अपने साथी विपिन पुत्र चंदन के साथ बहन की शादी का सामान लेने निकले थे। जिसके चलते वे युवक उन्नाव-शुक्लागंज मार्ग पर अकरमपुर के एक पेट्रोल पंप के सामने ही पहुंचे थे कि उन्नाव से जा रही एक तेज रफ्तार कार आई और उनकी बाइक में जोरदार टक्कर मार दी। मौके का फायदा उठाते हुए कार सवार भाग निकला। ये टक्कर इतनी ज्यादा तेज थी कि दोनों बाइक सवार युवक बाइक समेत उछलकर खेत में जा गिरे। लेकिन जब तक लोग वहां पहुंचे उनमें से राजेश की मौत हो चुकी थी। जबकि विपिन गंभीर रूप से जख्मी था। जिसे जल्दबाजी में अस्पताल तो ले जाया गया, पर उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई।

Ashiki

Ashiki

Next Story