Top

बाप ने पांचवीं शादी के लिए पैसे न दिए तो बेटे ने कर दी हत्या

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 4 July 2017 2:34 PM GMT

बाप ने पांचवीं शादी के लिए पैसे न दिए तो बेटे ने कर दी हत्या
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

सीतापुर: उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले के संदना थाना क्षेत्र में एक युवक ने पांचवीं शादी के लिए पैसे न देने पर अपने पिता की हत्या कर दी और फरार हो गया।

घटना की सूचना मिलने पर पुलिस अधीक्षक मृगेंद्र सिंह पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज जांच पड़ताल शुरू कर दी।

पुलिस के मुताबिक, संदना इलाके के देवरी खुर्द गांव निवासी इंदल (70) का सोमवार शाम अपने छोटे बेटे अशोक से विवाद हुआ था। अशोक चार शादियां कर चुका था, लेकिन शराब की लत के चलते कोई शादी सफल नहीं हुई। अब वह पांचवीं शादी करना चाह रहा था, जिसके लिए उसने सोमवार की शाम पिता से पैसे मांगे, लेकिन पिता ने इनकार कर दिया, जिसको लेकर दोनों के बीच झगड़ा हुआ।

मामले की सूचना पुलिस को फोन पर दी गई। जैसे ही पुलिस मौके पर पहुंची, अशोक घर से भाग निकला था। उस समय मामला शांत हो गया। लेकिन तीन जुलाई की देर रात अशोक शराब के नशे में घर लौटा और पिता से फिर झगड़ने लगा। विरोध करने पर उसने भाई रमेश और उसकी पत्नी रेशमी की पिटाई कर दी। फिर घर में रखी लोहे की रॉड से पिता के सीने और गले पर ताबड़तोड़ वार कर हत्या कर दी।

मौके पर पहुंचे एसपी मृगेंद्र सिंह ने घटना के बारे में परिजनों से पूछताछ की। उन्होंने थानाध्यक्ष को जल्द से जल्द आरोपी को गिरफ्तार करने का निर्देश दिया है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story