Top

नाले में गिरे युवक की मौत के साथ ही स्वच्छ भारत अभियान ने भी तोड़ा दम

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 8 Nov 2017 2:34 PM GMT

नाले में गिरे युवक की मौत के साथ ही स्वच्छ भारत अभियान ने भी तोड़ा दम
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मेरठ : ब्रह्मपुरी इलाके में एक खुले नाले ने जब एक युवक की जिंदगी लील ली तो, उसके साथ ही स्वच्छ भारत अभियान ने भी दम तोड़ दिया।

ये भी देखें :योगी जी ! फेल हो गया आपका एंटी रोमियो, इज्जत के लिए छात्रा ने दे दी जान

मामला मेरठ के थाना ब्रह्मपुरी क्षेत्र के भूमिया पुल का है। जहां दोपहर सुधीर राठौर उर्फ बनिया नाम का युवक अचानक नाले में कूद गया। यह नजारा देखते ही आसपास के लोग एकत्र हो गये। उन्होंने नाले में युवक की तलाश शुरू कर दी।

कुछ लोगों ने पुलिस को भी इस घटना की सूचना दी। आरोप है कि पुलिसकर्मी तमाशा देखते रहे। लेकिन उन्होंने नाले में गिरे युवक को बचाने का प्रयास नही किया। जबकि स्थानीय युवक सुधीर को नाले के गंदे पानी में काफी देर तक खोजते रहे। इसके बाद आई फायर ब्रिगेड की टीम ने नाले से सुधीर का शव निकाला।

मेरठ में कई ऐसे नाले हैं जो आए दिन दुर्घटना का कारण बनते हैं। लेकिन ना तो नगर निगम और ना ही जनप्रतिनिधियों को ये ख्याल आता है की इनपर स्लेप डलवा दें।

मजे की बात तो ये है कि इस समय देश भर में मोदी सरकार स्वच्छ भारत अभियान चला रही है। उसके विज्ञापन पर आम आदमी का करोड़ों रूपया फूंका जा रहा है। लेकिन इसका असर कहां हो रहा है किसी को नहीं पता।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story