किंगफिशर के भगोड़े मालिक विजय माल्या 4200 करोड़ की संपत्ति जब्त होना शुरू

Published by Published: September 18, 2017 | 4:34 pm

नई दिल्ली: अब बंद हो गए किंग फिशर के मालिक और कभी देश के सबसे बडे शराब निर्माता रहे विजय माल्या की संपत्ति की कुर्की सोमवार 18 सितंबर को शुरू हो गई। प्रवर्तन निदेशालय ने किंगफिशर (अब बंद) के चेयरमेन रहे विजय माल्या की संपत्ति की कुर्की शुरू कर दी है। यह संपत्ति प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (PMLA) के तहत जब्त की गई है।

यह भी पढ़ें: मुंबई से ताज महोत्सव में बैंजो बजाने पहुंचे विजय माल्या, देखकर हर कोई हुआ हैरान

एक अंग्रेजी अखबार में छपी रिपोर्ट के मुताबिक स्टॉक होल्डिंग कार्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (SHCIL) ने माल्या के 100 करोड़ रुपए की कीमत के शेयरों के अधिकार केंद्र सरकार को ट्रांसफर कर दिए हैं।

यह भी पढ़ें: विजय माल्या ने ट्वीट कर कहा- मैं भगोड़ा नहीं, मीडिया पर भी निकाली भड़ास

दरअसल यह पूरी प्रक्रिया दो महीने पहले ही शुरू हो गई थी। प्रवर्तन निदेशालय ने उस दौरान SHCIL को पत्र भेज कर माल्या के हिस्से वाले यूबीएल, यूनाइटेड स्प्रिट्स लिमिटेड और मैकडॉवेल होल्डिंग्स के 4000 करोड़ रुपए के शेयर ट्रांसफर करने को कहा था। यह कार्रवाई PMLA के आर्टिकल 9 के तहत की गई है।

माल्या की किंगफिशर एयरलाइन्स ने 6000 करोड़ रुपयों से ज्यादा का लोन लिया है। इस सिलसिले में कार्रवाई करते हुए ईडी ने दो महीने पहले प्रोविजनल (अस्थाई) तौर पर इन शेयर्स को अटैच कर दिया था।

अब यह प्रोविजनल अटैचमेंट SBHICL ने स्थाई कर दिया है। इस साल फरवरी में स्पेशल कोर्ट ने ईडी को माल्या की 4200 करोड़ की संपत्ति कुर्क करने का आदेश दिया था।

माल्या पर विभिन्न बैंकों का 9000 करोड़ रूपए का कर्ज है, जिसे नहीं चुका पाने पर वो लंदन भाग गया है। अदालत ने उसे भगोडा घोषित कर दिया है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App