Top

कोरोना की जांच करने गई टीम पर ग्रामीणों का हमला, जान से मारने की दी धमकी

कोरोना की जांच करने गई टीम से ग्रामीणों ने बदसलूकी की और उन्हें जान से मारने की धमकी भी दी।

Praveen Pandey

Praveen PandeyReporter Praveen PandeyShreyaPublished By Shreya

Published on 11 May 2021 4:27 PM GMT

कोरोना की जांच करने गई टीम पर ग्रामीणों का हमला, जान से मारने की दी धमकी
X

कोरोना टेस्ट (सांकेतिक फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

भोगांव/मैनपुरी: कोरोना वायरस के इस काल में जगह जगह से इंसानियत के शर्मसार होने की घटनाएं सामने आ रही हैं। इसी क्रम में क्षेत्र के गांव मेरापुर छदामी से एक मामला सामने आया है, जहां पर कोरोना वायरस संक्रमित (Corona Virus Positive) महिला की मौत की सूचना मिलने के बाद जांच करने पहुंची स्वास्थ्य विभाग (Health Department) की टीम को ग्रामीणों ने लौटा दिया। यही नहीं ग्रामीणों ने टीम के सदस्यों के साथ गाली-गलौज करते हुए जान से मारने की धमकी भी दी। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मामले की जानकारी उच्चाधिकारियों को दी है।

क्षेत्र के गांव मेरापुर छदामी निवासी 68 वर्षीय रामकली देवी की कोरोना संक्रमित होने के कारण कोविड लेवल टू अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई थी। बीते दिन किसी ग्रामीण ने सीएमओ को फोन कर जानकारी दी कि गांव में महिला की मौत कोरोना संक्रमण से हुई है। टीम भेजकर जांच कराई जाए और गांव को सैनेटाइज कराया जाए। सीएमओ के निर्देश पर सीएचसी मानपुरहरी में तैनात डॉ. एल.आर सिंह, एलटी सुनील शर्मा और चालक कुलदीप के साथ गांव पहुंचे। यहां जैसे ही उन्होंने महिला के परिजनों की जांच के लिए किट निकाली। आरोप है वैसे ही गांव के आधा सैकड़ा लोग हाथों में लाठी-डंडे लेकर वहां पहुंच गए और जांच कर रहे एलटी पर झपट पड़े।

ग्रामीणों ने जान से मारने की दी धमकी

एलटी पर हमला होता देख डॉ. एल.आर सिंह सामने आ गए और उन्होंने ग्रामीणों को पीछे हटने के लिए ललकारते हुए वीडियो बनाना शुरू कर दिया। वीडियो बनता देख ग्रामीण पीछे हट गए। उन्होंने ग्रामीणों को समझाया कि वह बिना ग्रामीणों की सहमति के किसी की जांच नहीं करेंगे। ग्रामीण उनकी बात को मानने को तैयार नहीं हुए और उन्हें गाली गलौज करते हुए जान से मारने की धमकी देते हुए लौटा दिया। जैसे तैसे वह एलटी और चालक के साथ गांव से वापस लौट आए।

मामले में डॉ. एलआर सिंह चिकित्सक मानपुर हरी सीएचसी ने बताया कि एलटी के साथ जांच कराने के लिए गांव गया था। वहां ग्रामीण लाठी-डंडे लेकर हमलावर हो गए। किसी प्रकार से जान बचाकर लौट आया। मामले की जानकारी उच्चाधिकारियों को दे दी गई है।

वहीं, दूसरी ओर सीएमओ मैनपुरी डॉ. एके पांडेय ने कहा कि जांच को गई टीम को लौटा देने की जानकारी डॉ0 एल.आर सिंह ने दी थी। इस पर भोगांव पुलिस को सूचना दे दी गई है। इस संबंध में पुलिस कप्तान से मुलाकात की जाएगी। इस प्रकार स्वास्थ्य विभाग कैसे काम कर पाएगा। लोगों से अपील है कि आपदा के समय लोग स्वास्थ्य विभाग का सहयोग करें।

Shreya

Shreya

Next Story