हैलट अस्पताल में 5 मौत का जिम्मेदार कौन? पता लगाने पहुची शासन की टीम

कानपुर: 24 घंटे में 5 मौत का आखिरकार जिम्मेदार कौन है। हैलट प्रशासन के जिम्मेदार डाक्टर खुद को बचाने की जुगत में लगे है। वही इस पूरे मामले को मुख्यमंत्री ने स्वयं गंभीरता से लिया है और चार सदस्यी टीम को गठित कर इससे पर्दा उठाने का प्रयास हो रहा है।

शुक्रवार को चार सदस्यी टीम हैलट अस्पताल पहुंची। टीम ने मेडिसिन विभाग के आईसीयू और एसी प्लांट का निरिक्षण किया। इसके साथ उन पेशेंट की मेडिकल रिपोर्ट का भी अध्यन किया जिन पेशेंट की जान गयी है। फ़िलहाल टीम अभी किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है उनकी जांच अभी चल रही है।

और आखिरकार 6 बच्चों की मां को मिला संदेह का लाभ….

बीते बुधवार से अस्पताल का एसी ख़राब था। इस उमस भरी गर्मी में आईसीयू में एडमिट पांच पेशेंट की जान चली गयी। इसकी जानकारी जब मीडिया के माध्यम से शासन को हुई तो कानपुर से लेकर लखनऊ तक हडकंप मच गया। डीएम सुरेंद्र सिंह ने आनन फानन में आईसीयू में टावर एसी की व्यवस्था करायी। वही एसी प्लांट की देख रेख करने वाली फ्रंचआईजी भी प्लांट को दुरुश्त करने में लगी लगी है।

नोएडा घोटाला: 34 घंटे सर्च के बाद अब आयकर टीम शुरू करेगी जांच

चार सदस्यी टीम देवेन्द्र गुप्ता के नेतृत्व में हैलट अस्पताल पहुची। टीम आईसीयू में भर्ती पेशेंट की रिपोर्ट को चेक किया। इसके साथ ही टीम मौजूद इलेक्ट्रिकल इंजीनियरों ने एसी प्लांट का निरिक्षण किया। उन बारीकियों को समझा कि किस वजह से एसी ख़राब हुई और इनकी हालत कैसी थी। एसी प्लांट के रख रखाव में क्या लापरवाही बरती जा रही थी। इसके साथ ही टीम यह भी पता लगाने काप्रयास कर रही है कि पेशेंट की मौत एसी नहीं चलने की वजह से हुई या फिर अन्य वजहों से।