Top

बच्ची को नहलाने ले गई थी दादी, बोली- डूबकर मर गई, PM से खुलेगा राज

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 25 July 2016 7:52 PM GMT

बच्ची को नहलाने ले गई थी दादी, बोली- डूबकर मर गई, PM से खुलेगा राज
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

महोबाः श्रीनगर थाना इलाके के उरवारा गांव की एक महिला ने अपनी सास पर बच्ची की हत्या का आरोप लगाया है। पुलिस ने इस पर कब्र से बच्ची की लाश बाहर निकालकर पोस्टमॉर्टम (पीएम) के लिए भेजा है। महिला को पहले भी ससुराल के लोग प्रताड़ित करते रहे हैं।

क्या है मामला?

-नेहा मिश्रा नाम की महिला की डेढ़ साल की प्राची नाम की बच्ची थी।

-नेहा ससुराल में प्रताड़ना के बाद अपने मायके में रह रही थी।

-28 जून को ही वह सुलह-सफाई के बाद अपने ससुराल लौटी थी।

-24 जुलाई को उसकी सास बच्ची को नहलाने के लिए कहकर ले गई।

-थोड़ी देर में सास ने उसे बताया कि बच्ची की टब में डूबकर मौत हो गई है।

-नेहा के मायके वाले जब तक पहुंचते, ससुराल वालों ने बच्ची की लाश दफना दी।

नेहा के पिता ने पुलिस में की शिकायत

-नेहा के पिता बेनीमाधव मिश्रा ने बेटी के साथ मिलकर पुलिस में शिकायत की।

-इस पर पुलिस ने बच्ची की लाश सोमवार को कब्र से निकाली।

-थाना इंचार्ज नंदलाल भारती और तहसीलदार कुंवर बिहारी निगम मौके पर मौजूद थे।

-पुलिस और तहसीलदार के मुताबिक पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई की जाएगी।

-नेहा फिर से बच्चे को जन्म देने वाली है और फिलहाल मायके चली गई है।

फोटोः नेहा (इनसेट में) की बच्ची की कब्र से निकाली गई लाश

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story