Top

Sushil Kumar गिरफ्तार, सागर पहलवान हत्याकांड में थे फरार

Sushil Kumar: कई दिनों से फरार चल रहे मुख्य आरोपी ओलंपियन सुशील कुमार आखिरकार गिरफ्तार हो गए।

Network

NetworkNewstrack NetworkShivaniPublished By Shivani

Published on 23 May 2021 4:57 AM GMT

Sagar Wrestler murder case
X

सुशील कुमार (फाइल फोटो- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Sushil Kumar: दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में सागर पहलवान हत्याकांड (Sagar Wrestler Murder Case) में कई दिनों से फरार चल रहे मुख्य आरोपी ओलंपियन सुशील कुमार आखिरकार गिरफ्तार हो गए। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने सुशील कुमार की गिरफ्तारी में सफलता हासिल कर ली। सुशील के साथ उनका एक साथी भी पकड़ा गया है।

पहलवान सुशील कुमार की गिरफ्तारी को लेकर दिल्ली पुलिस ने लुक आउट नोटिस जारी किया था, वहीं उन पर एक लाख का इनाम भी घोषित है। एक हत्या के मामले में आरोपी पहलवान सुशील कुमार को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही थी। यूपी के मेरठ टोल प्लाजा पर उन्हे कुछ दिन पहले देखा गया था। जिसके बाद से पंजाब के भटिंडा, मोहाली समेत कई राज्यों में ताबड़तोड़ छापेमारी की गई। हालांकि कल से ये अफवाह उड़ने लगी कि सुशील कुमार को पंजाब से अरेस्ट कर लिया गया है।

क्या है सागर पहलवान हत्याकांड

दरअसल, बीते कुछ दिनों पहले छत्रसाल स्टेडियम में दो पहलवानों (Wrestlers) के बीच झड़प हो गई थी, जिसमें पहलवान सागर की हत्या कर दी गई। इस झड़प में कई लोग घायल हो गए थे। इस मामले में सुशील कुमार का भी नाम सामने आया है। जानकारी के मुताबिक, यह झगड़ा एक फ्लैट को लेकर हुआ। बताया जा रहा है कि पहलवान सागर जिस फ्लैट में अपने दोस्तों के साथ रहते थे, उस फ्लैट को सुशील खाली करवाना चाहते थे, जिसके लिए सुशील उन पर दबाव बना रहे थे। इसी मसले पर छत्रसाल स्टेडियम में देर रात दोनों गुटों के बीच झड़प हुई, जिसमें 5 पहलवान घायल हुए थे। बाद में इलाज के दौरान सागर पहलवान की मौत हो गई।

सुशील पर एक लाख का इनाम

पुलिस से छिप रहे सुशील कुमार केस में सुशील कुमार फरार थे। पीड़ित पक्ष ने सुशील और उनके साथियों पर केस दर्ज कराया, जिसके बाद से दिल्ली पुलिस को सुशील की तलाश थी। इसे लेकर लगातार छापेमारी की गई, लेकिन वे पुलिस के हाथ नहीं लग पाए। इस बीच सुशील का एक बयान भी सामने आया, जिसमें उन्होंने कहा कि "उस दिन वे हमारे साथी नहीं थे, यह घटना देर रात को हुई। इस मामले के लिए हमने खुद पुलिस अधिकारियों को सूचित किया है कि कुछ अज्ञात लोग हमारे परिसर में कूद गए और झगड़ कर रहे हैं। इस घटना के साथ हमारे स्टेडियम का कोई संबंध नहीं है।'


सवाल उठता है कि अगर सुशील बेकसूर हैं तो वह छिपे हुए क्यों थे? वहीं अगर उन्होनें पुलिस में खुद शिकायत की है तो पुलिस ने उनके खिलाफ ही लुक आउट नोटिस और तलाश में इनाम क्यों घोषित किया? सुशील क्यों पुलिस के सामने आकर मामले पर पूरी बात नहीं कर रहे हैं? आखिर क्यों वो कानून से डर रहे है। जानकारी ये भी है कि पुलिस ने सागर गुट के दो घायल साथियों के बयान दर्ज किए हैं। इन दोनों ने भी सुशील कुमार नाम लिया है।

Shivani

Shivani

Next Story