Top

रंजिश में गोली मारकर किसान की हत्या, भीड़ ने हमलावर 10वीं केे छात्र को पीटकर मार डाला

By

Published on 25 Oct 2016 7:29 AM GMT

रंजिश में गोली मारकर किसान की हत्या, भीड़ ने हमलावर 10वीं केे छात्र को पीटकर मार डाला
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नोएडा: सिलारपुर गांव में शनिवार को युवक की पिटाई से शुरू हुआ विवाद सोमवार तक खूनी रंजिश में बदल गया। छह लोगों ने गोली मारकर एक वृद्ध किसान की हत्या कर दी। हमलावरों ने उसके बेटों पर भी हमला किया। इस दौरान एक बेटा गोली लगनेे से घायल हो गया। आक्रोशित ग्रामीणों ने कथित हमलावर दसवीं के छात्र को घेरकर लाठी-डंडों व धारदार हथियार सेे मार डाला। वारदात के बाद गांव में तनाव हो गया। एहतियातन पुलिस बल तैनात किया गया है।

घात लगाकर किया हमला

जयभगवान तीन बेटों कुलदीप, दीपक और ब्रजेश के साथ खेत से बुग्गी में चारा लेकर घर लौट रहे थे। इस दौरान गांव के शमशान घाट के पास पहले से मौजूद रामू और उसके भाई राजू, विपिन व तीन अज्ञात हमलावरों नेे बाप-बेटों पर हमला कर दिया। हमलावरों ने जय भगवान के सीने और कुलदीप के हाथ में गोली मार दी। जय भगवान की मौके पर ही मौत हो गई।

पीट-पीट कर दी हत्या

गोलियों की आवाज सुनकर ग्रामीण घटनास्थल की ओर दौड़ पड़े। बताया गया है कि रामू के साथ आए अन्य हमलावर बाइक पर सवार होकर भाग गए, लेकिन रामू को ग्रामीणों ने घेर लिया। आक्रोशित ग्रामीणों ने दसवीं के छात्र रामू को लाठी-डंडों से पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया। इधर, हमले में घायल अन्य लोगों को दादरी के निजी अस्पताल भेजा गया।

गांव में तैनात पीएसी

मांगलवार सुबह तक दादरी, बिसरख, बादलपुर, जारचा थाने के पुलिस बल व पीएसी मौके पर पहुंच गई। एसपी देहात सुजाता सिह और सीओ दादरी पीयूष कुमार घटनास्थल पर पहुंचे और दोनों पक्षों से जानकारी ली।

पिटाई के बाद गांव में हुई थी पंचायत

ग्रामीणों के मुताबिक जय भगवान व उसके परिजनों ने दो दिन पहले चोरी का आरोप लगाकर रामू के बड़े भाई राजू की पिटाई कर दी थी। इस मामले में गांव में पंचायत हुई थी, जिसमें दोनों पक्षों में सुलह करा दी गई थी। लोगों का कहना है कि युवक की पिटाई और पंचायत के बावजूद पुलिस मामले में हस्तक्षेप नहीं कर पाई और यही विवाद दोहरे हत्याकांड का कारण बन गया।

Next Story