×

Priyanka Gandhi UP Visit: प्रियंका गांधी का यूपी दौरा, चिंतन शिविर में हार पर मंथन, लोकसभा चुनाव पर बनेगी रणनीति

Congress Party UP : राजस्थान के उदयपुर में चिंतन शिविर के बाद अब उत्तर प्रदेश की राजधनी लखनऊ में कांग्रेस नेताओं का जमावड़ा जून के प्रथम सप्ताह में लगने जा रहा है.

Rahul Singh Rajpoot
Updated on: 2022-05-29T13:29:20+05:30
Priyanka Gandhi Lucknow Visit
X

Priyanka Gandhi Lucknow Visit (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Priyanka Gandhi Congress Party UP : राजस्थान के उदयपुर में चिंतन शिविर के बाद अब उत्तर प्रदेश की राजधनी लखनऊ में कांग्रेस नेताओं का जमावड़ा जून के प्रथम सप्ताह में लगने जा रहा है. कांग्रेस को यूपी चुनाव में भले करारी हार का सामना करना पड़ा हो लेकिन प्रियंका गांधी के हौसले नहीं हारे हैं. उनके नेतृत्व में पार्टी अब नगर निगम चुनाव और लोकसभा चुनाव 2024 की तैयारियां शुरू करने जा रही है. इससे पहले एक चिंतन, मंथन शिविर का आयोजन होने जा रहा है. कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी 1 या 2 जून को लखनऊ पहुंच सकती हैं. यहां नेताओं के साथ बैठक करेंगी और संगठन की समीक्षा करेंगी.

यूपी चुनाव के नतीजे आने के बाद प्रियंका गांधी की पार्टी नेताओं के साथ यह पहली बैठक होगी. बताया जा रहा है कि दो दिवसीय चिंतन शिविर में प्रियंका गाँधी नगर निकाय चुनाव और आगामी 2024 के लोकसभा चुनाव को लेकर अपनी रणनीति तैयार करेंगी. यूपी कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता के मुताबिक अभी प्रियंका का पूरा कार्यक्रम जारी नहीं किया गया है. लेकिन वह यूपी के दौरे एक या दो जून को आएंगी. लखनऊ में पार्टी नेताओं, सलाहकार समिति, प्रदेश पदाधिकारियों से रूबरू होंगी. चुनाव से पहले वह संगठन की मजबूती को लेकर क्या कार्य हुए हैं इसका भी जायजा लेंगी. उसके बाद किस तरह से निकाय चुनाव लड़ा जाना है इसको लेकर दिशा निर्देश नेताओं को देंगी.

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव प्रियंका गांधी के नेतृत्व में लड़ा गया था. उनके दो विधायक प्रतापगढ़ की रामपुर खास और महाराजगंज जिले की एक सीट जीत कर आए हैं. कांग्रेस ने इस चुनाव में अपनी पूरी ताकत झोंक दी थी. आधी आबादी को रिझाने के लिए उन्हें 50 प्रतिशत टिकट दिया गया. इसके साथ ही सरकार को घेरने के लिए प्रियंका गांधी ने लगातार संघर्ष किया. बावजूद उसके उनकी पार्टी के जनाधार में सुधार नहीं देखने को मिला. 2017 में जहां उनके सात विधायक जीत कर आए थे तो वही 2022 में सिर्फ दो सीट पर सिमट गई. अब प्रियंका के सामने यूपी में कांग्रेस को खड़े करने की बड़ी चुनौती है.

इसीलिए वह इस साल के आखिरी में होने जा रहे नगर निकाय चुनाव और उसके बाद देश के सबसे बड़ी लड़ाई 2024 का लोकसभा चुनाव होना है. इस को ध्यान में रखते हुए कांग्रेस आलाकमान लगातार बैठकर कर रहे हैं अभी राजस्थान के उदयपुर में कांग्रेस का तीन दिवसीय चिंतन शिविर का आयोजन किया गया था जिसमें ताजा हालात और पार्टी को कैसे पुनर्जीवित करना है इसको लेकर मंथन हुआ था अब लखनऊ में एक एक बार फिर प्रियंका के नेतृत्व में चिंतन शिविर होने जा रहा है जिसमें देखना होगा कि पार्टी के लिए क्या कुछ नया संदेश निकल कर आता है.

Prashant Dixit

Prashant Dixit

Next Story