×

Aamir khan CEAT Tyre Ad: आमिर खान के विज्ञापन पर बढ़ा विवाद, भाजपा सांसद की तीखी आपत्ति, सड़कों पर नमाज का मुद्दा उठाया

Aamir khan CEAT Tyre Ad: पत्र में नमाज के दौरान सड़कों पर लगने वाले जाम की ओर टायर कंपनी के एमडी और सीईओ आनंद वर्धन गोयनका का ध्यान खींचा गया है।

Anshuman Tiwari
Written By Anshuman TiwariPublished By Monika
Updated on: 22 Oct 2021 8:27 AM GMT
Aamir khan CEAT Tyre Ad
X

आमिर खान के विज्ञापन पर बवाल (फोटो : सोशल मीडिया ) 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Aamir khan CEAT Tyre Ad: बॉलीवुड अभिनेता आमिर खान (Aamir Khan) का दीपावली (Diwali) पर गलियों में पटाखे न छोड़ने की अपील वाला विज्ञापन (advertisement) इन दिनों खूब चर्चाओं में है। टायर कंपनी सिएट (CEAT) के लिए बनाए गए इस विज्ञापन में आमिर की सलाह पर सोशल मीडिया में तीखी प्रतिक्रिया जताई जा रही है (Aamir khan troll social media )। आमिर खान के इस विज्ञापन पर भाजपा सांसद अनंत कुमार हेगड़े (Ananth Kumar Hegde) ने भी तीखी आपत्ति जताई है। उन्होंने इस बाबत सिएट टायर कंपनी के एमडी (CEAT tyre company ka ad) और सीईओ आनंद वर्धन गोयनका (Anand Vardhan Goenka) को पत्र भी लिखा है।

इस पत्र में नमाज के दौरान सड़कों पर लगने वाले जाम की ओर उनका ध्यान खींचा गया है। हेगड़े ने कहा कि इस जाम की वजह से लोगों को काफी परेशानी होती है। टायर कंपनी को इस पर भी विज्ञापन जारी करना चाहिए। उन्होंने कहा कि आमिर खान के इस विज्ञापन की वजह से हिंदुओं में काफी रोष और गुस्सा है। ट्विटर पर भी यह मुद्दा गरमाया हुआ है। लोग सिएट टायर के बॉयकॉट की अपील भी कर रहे हैं (Boycott CEAT tyre) । यूजर्स की ओर से उसी मुद्दे को उठाया जा रहा है जिसकी और भाजपा सांसद हेगड़े ने ध्यान खींचा है।

सिएट के एमडी गोयनका को लिखी चिट्ठी (Letter to CEAT MD)

भाजपा सांसद हेगड़े ने गोयनका को लिखी चिट्ठी में कहा है कि आपकी कंपनी की ओर से हाल में जारी किए गए विज्ञापन, जिसमें आमिर खान लोगों को सड़कों पर पटाखे न जलाने की सलाह दे रहे हैं, काफी अच्छा संदेश दे रहा है। सार्वजनिक मुद्दों पर आपकी कंपनी की ओर से व्यक्त की गई चिंता स्वागत योग्य हैं। इसीलिए मैं आपका ध्यान सड़कों पर पैदा होने वाली एक और समस्या की ओर खींचना चाहता हूं। लोगों को इस समस्या के कारण भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

हेगड़े ने कहा कि शुक्रवार के दिन और अन्य त्योहारों के मौकों पर मुस्लिम समाज की ओर से पढ़ी जाने वाली नमाज के दौरान सड़कें जाम की जाती हैं। कई शहरों में इस तरह का नजारा दिखता है, जहां मुस्लिम समाज के लोग व्यस्त सड़कों पर बैठकर नमाज अदा करते हैं। इस कारण कई बार एंबुलेंस और दमकल जैसे जरूरी वाहन भी जाम में फंस जाते हैं जिससे काफी गंभीर नुकसान उठाना पड़ता है।

मस्जिदों से अजान का मुद्दा भी उठाया

इसके साथ ही भाजपा सांसद हेगड़े ने ध्वनि प्रदूषण (noise pollution) की ओर भी कंपनी का ध्यान खींचा है। उन्होंने कंपनी से अपने विज्ञापनों में ध्वनि प्रदूषण के मुद्दे को उठाने का भी अनुरोध किया है। उन्होंने कहा कि मस्जिदों से होने वाली अजान में लाउडस्पीकर से काफी तेज आवाज निकलती है ।शुक्रवार के दिन तो इस आवाज को और भी तेज कर दिया जाता है।

इस तेज आवाज के कारण मस्जिदों के आसपास रहने वाले लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इस तेज आवाज के कारण काम करने वाले लोगों और विभिन्न स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को भी काफी परेशानी होती है। उन्होंने कहा कि इससे परेशान होने वाले लोगों की सूची काफी लंबी है मगर उनमें से यहां कुछ ही बातों का जिक्र किया गया है।

हिंदुओं की भावनाओं को चोट न पहुंचाएं

भाजपा सांसद ने गोयनका को हिंदू समुदाय से होने की याद भी दिलाई है। उन्होंने कहा कि आपने भी सदियों से हिंदुओं के साथ किए जाने वाले भेदभाव को महसूस किया होगा। इन दिनों कुछ हिंदू विरोधी अभिनेता हिंदू भावनाओं को आहत करने में जुटे रहते हैं। इन अभिनेताओं की ओर से अपने समुदाय के गलत कामों को कभी उजागर नहीं किया जाता।

उन्होंने गोयनका को याद दिलाया है कि उनके विज्ञापन ने हिंदुओं में अशांति की भावना पैदा की है। इसके साथ ही उन्होंने उम्मीद जताई कि कंपनी भविष्य में हिंदू भावनाओं को आहत नहीं करेगी और हिंदू भावनाओं को चोट पहुंचाने का कोई भी काम नहीं करेगी।

फैबइंडिया के विज्ञापन पर भी हुआ था विवाद

इससे पहले फैबइंडिया के एक विज्ञापन पर भी आपत्ति जताई जा चुकी है। भाजपा से जुड़े कुछ नेताओं ने फैबइंडिया की ओर से दीपावली से जुड़े विज्ञापन का नाम जश्न-ए-रिवाज रखे जाने पर आपत्ति जताई थी। सोशल मीडिया पर भी इस विज्ञापन की जबर्दस्त आलोचना की गई थी, जिसके बाद बायकॉट फैबइंडिया ट्रेंड करने लगा था।

इसके बाद फैबइंडिया ने इस विज्ञापन को हटाने के साथ ही ही विज्ञापन से जुड़ा पोस्ट भी सोशल मीडिया से हटा दिया था। हालांकि कंपनी की ओर से यह स्पष्टीकरण भी दिया गया था कि जश्न-ए-रिवाज क्लोथिंग कलेक्शन नहीं था। कंपनी का कहना था कि झिलमिल दीपावाली के नाम से कलेक्शन कुछ दिनों बाद लांच किया जाएगा। पिछले दिनों तनिष्क के विज्ञापन को लेकर भी इसी तरह का विवाद पैदा हुआ था। अब सिएट के विज्ञापन को लेकर भी सोशल मीडिया पर तीखी प्रतिक्रिया जताई जा रही है।

Monika

Monika

Next Story