×

TRENDING TAGS :

Election Result 2024

Article 370 Story: वादी से लेकर वादे तक की कहानी को दर्शाती हैं, यामी गौतम की फिल्म आर्टिकल 370

Article 370 Story in Hindi: यामी गौतम की फिल्म आर्टिकल 370 कश्मीर के वादियों से शुरू होकर लोकसभा में आर्टिकल 370 हटाने तक के दृश्य को दर्शाती है, पढ़े फिल्म की कहानी...

Shikha Tiwari
Published on: 23 Feb 2024 9:20 AM GMT
Article 370 Story: वादी से लेकर वादे तक की कहानी को दर्शाती हैं, यामी गौतम की फिल्म आर्टिकल 370
X

Article 370 Story in Hindi: आर्टिकल 370 जैसी बॉलीवुड में बहुत-सी फिल्में बन चुकीं है, जो देश के इतिहास को बताती हैं। फिल्म आज बॉक्स ऑफिस पर रिलीज हो चुकी है, यदि हम फिल्म आर्टिकल 370 के स्टोरी (Article 370 Story) के बारे में बात करे तो फिल्म की स्टोरी कश्मीर की खूबसूरत घाटियों से शुरू होकर संदन में आर्टिकल 370 हटाये जाने तक के बारे में बताती है। इस फिल्म में यामी गौतम ने जूनी नाम की एजेंट का किरदार निभाया हैं, तो वहीं अरूण गोविल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का, आर्टिकल 370 हटाने के पीछे की स्ट्रैटजी क्या थी, इतने बड़े फैसले के पीछे कौन-कौन लोग थे और उस वक्त का घटनाक्रम क्या था।

फिल्म में दिखाया गया है कि किस तरह से Article 370 को कश्मीर से हटाया गया व किन मुश्किलों से सरकार को गुजरना पड़ा था। कश्मीर में हालात खराब हो रहे थे, ऐसे में सरकार को ध्यान देना था कि वहां खून भी न गिरे और इस काले प्रावधान ((Article 370) को भी हटा दिया जाए। इसकी पहली आधारशिला तब रखी गई जब 2016 में आतंकी बुरहान वानी का एनकाउंटर हुआ था।

बता दे कि फिल्म की शुरूआत जूनी हक्सर (Yami Gautam) नाम के एक जांच एजेंसी अधिकारी से होती है। जो अपने कश्मीर से आतंकवादियों को भगाना चाहती है। इसके लिए उसके ऑपरेशन की शुरूआत बुरहान बानी के खात्मे से होती है। बुरहान बानी के मौत के बाद कश्मीर में जो हालात बने थे। इससे कोई भी अंजान नहीं हैं। इस घटना के बाद जूनी हक्सर को कश्मीर से दिल्ली भेज दिया जाता है। जूनी दिल्ली में मंत्रियों के सुरक्षा की देख-रेख करती है।

कश्मीर में बैठे जाँच ऐजंसियों के कुछ अधिकारियों को लगता है, कि वो वहाँ बैठकर कश्मीर के कुछ अलगावदी नेताओं के साथ मिलकर देश को सुरक्षित रखते है। कश्मीर के हालात देखकर देश के प्रधानमंत्री व गृह मंत्रालय भी खुश नहीं है। वहाँ वो लोग NIA भेजकर वहाँ की वर्तमान स्थिति को कंट्रोल करने की कोशिश करते है। इसे लीड करने का मौका जूनी को मिलता है।

तो वहीं पीएमओ की ज्वाइंट सेक्रेटरी कहती हैं कि- कश्मीर के लोगो को बताया गया हैं कि यदि Article 370 हट गया तो वहाँ कत्ले आम मच जाएगा। यही वजह हैं, कि अलगावादी नेता कश्मीर में बच्चो से लेकर बूढ़ो तक का इस्तेमाल कर पत्थरबाजी करवाते है। उसके बावजूद जूनी NIA ज्वाइन करती हैं और कश्मीर में धीरे-धीरे सब कंट्रोल करने की कोशिश करती है। उधर दिल्ली में Article 370 हटाने की तैयारी शुरू कर दी जाती है। (Article 370 Story)

इसके आगे कहानी में ये दिखाया गया है कि पीएमओ Article 370 हटाने के लिए क्या-क्या दाव-पेज खेलती है। इसके लिए दो-तीन सालों तक पर्दे के पीछे काफी डिस्कशन हुआ था। जैसे कि अलगावादी नेताओं को न्यूट्रल किया गया व मीडिया को चकम्मा देकर Article 370 हटाने के लिए उस समय के वर्तमान राष्ट्रपति से मंजूरी ली गई। और किस तरह से अंत में 5 अगस्त 2019 को Article 370 हटाने के बाद से कश्मीर में शांति भंग नहीं हुई। इन सब चीजो को फिल्म में बारीक तरीके से दर्शाया गया है।

Shikha Tiwari

Shikha Tiwari

Education Content Writer

Education Content Writer

Next Story