×

Aryan Khan Drug Case: आर्यन खान के समर्थन में शिवसेना नेता ने किया SC का रुख, NCB की भूमिका की जांच करने की मांग

आर्यन खान ड्रग्स केस मामले में शिवसेना नेता किशोर तिवारी ने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया है और अपनी याचिका दायर की है। शिवसेना नेता किशोर तिवारी ने चीफ जस्टिस एनवी रमन्ना से इस मामले में स्वतः संज्ञान लेने की मांग की है।

Network
Newstrack NetworkPublished By Deepak Kumar
Updated on: 2021-10-19T10:14:44+05:30
Aryan Khan Drug Case: आर्यन खान के समर्थन में शिवसेना नेता ने किया SC का रुख, NCB की भूमिका की जांच करने की मांग
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Aryan Khan Drug Case: आर्यन खान ड्रग्स केस (Aryan Khan Drugs Case) मामले में शिवसेना के एक सीनियर नेता ने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया है। शिवसेना नेता का कहना है कि आर्यन खान के मामले में एनसीबी (NCB) की जांच पक्षपातपूर्ण है। इस जांच के दौरान आर्यन के मौलिक अधिकारों का उल्लंघन हुआ है। शिवसेना नेता ने सुप्रीम कोर्ट से इस मामले की जांच करने का आदेश देने की अपील की है।

शिवसेना नेता किशोर तिवारी ने चीफ जस्टिस एनवी रमन्ना से इस मामले में स्वतः संज्ञान लेने की मांग की है। आगे इस मामले में गिरफ्तार आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग की गई है। शिवसेना नेता ने अपनी याचिका में आगे लिखा है कि इस ड्रग्स मामले में नॉर्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) की भूमिका की भी जांच होनी चाहिए। याचिका में इस मामले की न्यायिक जांच कराने की मांग की गई है। शिवसेना नेता ने अपनी याचिका में आर्यन की जमानत पर फैसला 20 अक्टूबर तक सुरक्षित रखे जाने का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक अवकाश का हवाला देते हुए जमानत को टालकर आरोपी का अपमान किया गया।

आर्यन को अलोकतांत्रित रूप से रखा गया जेल

शिवसेना नेता ने कहा कि पिछले 17 दिनों में आर्यन को अवैध और अलोकतांत्रित रूप से जेल में रखा गया है। उन्होंने कहा कि यह संविधान द्वारा दिए गए स्वतंत्रता के मौलिक अधिकारों की अवहेलना है। एनसीबी और उसके अधिकारियों पर कुछ सेलेब्स को निशाना बनाकर बदला लेने का आरोप लगाते हुए शिवसेना नेता ने ड्रग्स मामले में केंद्रीय एजेंसी और समीर वानखेडे़ की भूमिका की जांच की मांग की।

जेल अधिकारियों को आर्यन के स्वास्थ्य की सता रही चिंता

जेल अधिकारियों द्वारा व्यक्तिगत रूप से उनका ध्यान रखा जा रहा है। जो जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक आर्यन खान जेल में ड्रग्स सेवन से जुड़े मामले में अन्य आरोपियों से बातचीत नहीं करते। आर्यन जेल के अंदर की स्थितियों में और वहां का खाना खाने में अब भी सहज नहीं हो पाए हैं। इस वजह से जेल अधिकारियों को उनके स्वास्थ्य की भी चिंता सता रही है।

आर्यन की जमानत याचिका पर 20 अक्टूबर को फैसला

फिलहाल, आर्यन खान आर्थर रोड जेल में बंद हैं। उनके वकीलों ने मुंबई के सेशंस कोर्ट में जमानत की याचिका डाली थी, जिस पर सुनवाई हो चुकी है। कोर्ट अपना फैसला 20 अक्टूबर को सुनाने वाली है। बता दें कि इस मामले में आर्यन खान के अलावा मुनमुन धमेचा, अरबाज मर्चेंट, नूपुर सारिका, इसमीत सिंह, मोहक जसवाल, विक्रांत छोकर और गोमित चोपड़ा को गिरफ्तार किया गया था। उनके खिलाफ एनडीपीएस कानून के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story