×

Padmavati Row: 'राष्ट्रमाता' पर बनी फिल्म शिव'राज' में बैन, भंसाली हैं पापी

राजपूत समाज के प्रतिनिधिमंडल से चर्चा के दौरान सीएम शिवराज सिंह चौहान ने 'पद्मावती' को 'राष्ट्रमाता' बताते हुए ऐलान किया है कि 'पद्मावती' के सम्मान के साथ खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं किया जा सकता, लिहाजा उन पर बनी फिल्म का प्रदर्शन राज्य में नहीं होगा।

tiwarishalini
Updated on: 20 Nov 2017 12:03 PM GMT
Padmavati Row: राष्ट्रमाता पर बनी फिल्म शिवराज में बैन, भंसाली हैं पापी
X
'
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

भोपाल : मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पद्मावती को 'राष्ट्रमाता' बताते हुए ऐलान किया कि पद्मावती के जीवन और शौर्यगाथा पर ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ कर बनाई गई फिल्म को राज्य में प्रदर्शित नहीं होने दिया जाएगा। वहीं भोपाल में रानी पद्मावती की शौर्य गाथा को प्रदर्शित करने वाला स्मारक स्थापित किया जाएगा और राष्ट्रमाता पद्मावती पुरस्कार दिया जाएगा।

राज्य के विभिन्न हिस्सों से आए राजपूत समाज के प्रतिनिधियों ने सोमवार को मुख्यमंत्री आवास पर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष नंद कुमार सिंह चौहान के साथ मुख्यमंत्री से मुलाकात की। इस मुलाकात के दौरान राजपूत समाज के प्रतिनिधियों ने अपनी बात कही।

इस दौरान मुख्यमंत्री चौहान ने कहा, "आज पूरा देश एक स्वर में कह रहा है कि महारानी पद्मावती पर जो फिल्म बनाई गई है, उसमें ऐतिहासिक तथ्यों से खिलवाड़ किया गया है, मैं जोश समझ सकता हूं, मगर जोश में होश होना भी जरूरी है।"

चौहान ने फिल्म के ऐतिहासिक तथ्यों से हुई छेड़छाड़ का जिक्र करते हुए कहा, "ऐतिहासिक तथ्यों से खिलवाड़ कर अगर राष्ट्रमाता पद्मावती जी के सम्मान के खिलाफ जो दृश्य दिखाए जाने की बात कही गई है तो मध्य प्रदेश की धरती पर फिल्म का प्रदर्शन नहीं होने दिया जाएगा।"

मुख्यमंत्री ने राजपूत समाज को भरोसा दिलाया, "फिल्म भले ही रिलीज हो जाए, मगर मध्य प्रदेश में उस पर प्रतिबंध रहेगा। यहां किसी भी स्थिति में फिल्म का प्रदर्शन नहीं होने दिया जाएगा।"

यह भी पढ़ें ... ‘पद्मावती’ पर वसुंधरा ने तोड़ी चुप्पी, स्मृति को चिट्ठी लिख की ये अपील

मुख्यमंत्री ने कहा, "रानी पद्मावती के बलिदान का अपमान देश और प्रदेश स्वीकार नहीं करेगा। भोपाल में रानी पद्मावती की शौर्य गाथा को प्रदर्शित करने के लिए स्मारक स्थापित किया जाएगा। भावी पीढ़ी के लिए प्रस्तावित वीर भूमि प्रकल्प में वीरों की शौर्य गाथाओं को प्रदर्शित किया जाएगा।"

चौहान ने कहा, "भारत ने दुनिया को वीरता का पाठ पढ़ाया है। भारत के वीरों ने अपनी गरिमा, आत्म-सम्मान और मातृभूमि के लिए प्राणों का बलिदान दिया है। अपने मान-सम्मान की रक्षा के लिए बलिदान देने की भारतवर्ष की अद्भुत वीरगाथाओं का उदाहरण पूरी दुनिया में नहीं मिलता।"

चौहान ने ऐलान किया, "महिलाओं के सम्मान के लिए उल्लेखनीय कार्य करने वाले व्यक्ति को राष्ट्रमाता पद्मावती पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। इसी प्रकार वीरता के लिए महाराणा प्रताप पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।"

यह भी पढ़ें .... ‘पद्मावती’ पर बोले बेनेगल, वोट बैंक की ‘राजनीति’, CBFC का बर्ताव ‘अजीब’

भंसाली है पापी : बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष

बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान भी भंसाली पर जमकर हमले बोले। उन्होंने कहा, "इस हिंदुस्तान की धरती पर अनेक पापी लोग आए, पाप करके चले गए, आज भी दुर्भाग्य है कि हिंदुस्तान की धरती पर कुछ पापी भेष बनाकर आ जाते हैं और धन बनाने के लिए देश के इतिहास के साथ छेड़छाड़ करते हैं। इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।"



सीएम के ऐलान के बाद विभिन्न संगठनों से जुड़े प्रतिनिधियों ने चौहान के इस कदम का स्वागत किया है। साथ ही कुछ लोगों ने यहां तक कहा कि चौहान ने उनका साथ दिया है, लिहाजा वे चौहान का साथ देंगे।

यह भी पढ़ें .... शिवराज सिंह चौहान ने ‘पद्मावती’ पर कहा- फिल्म MP में नहीं होगी रिलीज

फिल्म 'पद्मावती' पहली दिसंबर को रिलीज होने वाली थी, लेकिन विवादों के कारण निर्माताओं ने तय तारीख पर इसे रिलीज न करने का फैसला लिया है। विवाद इसलिए गहरा गया है, क्योंकि गुजरात चुनाव के मद्देनजर भाजपा को यह फायदेमंद मुद्दा लग रहा है। गुजरात में पीएम की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है, इसलिए बीजेपी इसके जरिए राजपूत वोट पक्का करने में लगी है। यह फिल्म संभवत: गुजरात चुनाव के बाद ही रिलीज हो पाएगी।

--आईएएनएस

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story