×

कृषि कानूनों को निरस्त करने पर आया कंगना रनौत का बयान, कहा - तानाशाही ही एकमात्र संकल्प

kangana ranaut news: अभिनेत्री कंगना रनौत ने इंस्टाग्राम पर स्टोरी शेयर कर अपनी नाराजगी जाहिर की है। कंगना ने इंस्टाग्राम पर एक ट्वीट के स्क्रीनशॉट को शेयर करते हुए लिखा, दुखद, शर्मनाक, बिल्कुल अनुचित। अगर संसद में चुनी गई सरकार के बजाए, लोगों ने सड़कों पर ही कानून बनाना शुरू कर दिया, तो यह भी एक जिहादी राष्ट्र है।

Network
Newstrack NetworkPublished By Deepak Kumar
Updated on: 19 Nov 2021 6:54 AM GMT
कृषि कानूनों को निरस्त करने पर आया कंगना रनौत का बयान, कहा - तानाशाही ही एकमात्र संकल्प
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

kangana ranaut news: अभिनेत्री कंगना रनौत (actress kangana ranaut) विवादास्पद कृषि कानूनों को खत्म करने के सरकार के फैसले से निराश हैं। अभिनेत्री (actress kangana ranaut) ने इंस्टाग्राम पर स्टोरी शेयर (Actress Kangana Ranaut shares story on Instagram) कर अपनी नाराजगी जाहिर की है। कंगना ने इंस्टाग्राम पर एक ट्वीट के स्क्रीनशॉट को शेयर करते हुए लिखा, दुखद, शर्मनाक, बिल्कुल अनुचित। अगर संसद में चुनी गई सरकार के बजाए, लोगों ने सड़कों पर ही कानून बनाना शुरू कर दिया, तो यह भी एक जिहादी राष्ट्र है। उन सभी को बधाई जो इसे इस तरह से चाहते थें।" अभिनेत्री (actress kangana ranaut) ने इन बातों से कृषि कानून के निरस्त होने पर रिएक्ट (React on repeal of agriculture law) किया है। अभिनेत्री ने आगे इंस्टाग्राम पर पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को उनकी जयंती पर शुभकामनाएं दी है।


दूसरे स्टोरी में उन्होंने दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी (Former Prime Minister Indira Gandhi) की एक तस्वीर साझा कर उन्हें जन्मदिन की बधाई दी है। इसी के साथ उन्होंने इंदिरा गांधी (Former Prime Minister Indira Gandhi) के लिए एक संदेश भी लिखा है। जिसमें उन्होंने लिखा, "जब देश की अंतरात्मा गहरी नींद में है, तो लठ ही एकमात्र समाधान है और तानाशाही ही एकमात्र संकल्प है... जन्मदिन मुबारक हो प्रधानमंत्री जी।" बता दें कि यह पूर्व पीएम इंदिरा गांधी (Former Prime Minister Indira Gandhi) की 104वीं जयंती है। अभिनेत्री ने आगे स्तंभ लेखक आनंद रंगनाथन के एक ट्वीट को भी इंस्टाग्राम पर शेयर किया है। जिसमें आनंद ने लिखा है कि अराजकता की विजय। बुरे दिन आने वाले हैं। आनंद रंगनाथन ने भी सरकार के इस फैसले को गलत ठहराया है।


गौरतलब है कि शुक्रवार की सुबह, पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने घोषणा की कि केंद्र सरकार (central Government) ने देश के किसानों के एक वर्ग के विरोध के बाद, 2020 में संसद में पारित तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने का फैसला (Announcement to repeal three agriculture laws) किया है। पीएम (PM Narendra Modi) ने घोषणा करते हुए कहा, " आज, मैं आपको, पूरे देश को बताने आया हूं, कि हमने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का फैसला किया है। इस महीने के अंत में शुरू होने वाले संसद सत्र में, हम इन तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने के लिए संवैधानिक प्रक्रिया को पूरा करेंगे।" पंजाब और हरियाणा और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में किसानों का एक वर्ग लगभग एक साल तक विरोध प्रदर्शन कर रहा था, जो केंद्र के गतिरोध को तोड़ने के निरंतर प्रयासों के बावजूद कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग कर रहा था।

अभिनेत्री कंगना रनौत (actress kangana ranaut) ने कानून लाने के सरकार के फैसले का समर्थन किया था। वो अक्सर खुलेआम उन कलाकारों का विरोध करती नजर आती थीं, जो किसानों के समर्थन में थें, जैसे कि मशहूर हस्ती दिलजीत दोसांझ। दिलजीत दोसांझ शुरुआत से ही सरकार के बिल लाने के फैसले का विरोध कर रहे थें। दिलजीत का मानना था कि ये बिल किसानों के हित में नहीं है।

कंगना (actress kangana ranaut) ने इससे पहले कृषि कानून (three agriculture laws) का विरोध कर रही सिंगर रिहाना के बारे में भी ट्वीट किया था। कंगना ने कहा था, "रिहाना, एक पोर्न गायिका हैं, वह कोई मोजार्ट नहीं है और न ही उन्हें कोई शास्त्रीय ज्ञान है। उनकी कोई विशेष आवाज नहीं है। अगर 10 प्रतिष्ठित शास्त्रीय गायिकाएं एक साथ बैठेंगी, तो वो कहेंगी कि वो गाना भी नहीं जानती हैं।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story