×

नहीं टूटेगा किशोर कुमार का घर, जर्जर बंगले को तोडऩे के संबंध में नोटिस हुआ था चस्पा

By

Published on 21 July 2017 9:21 AM GMT

नहीं टूटेगा किशोर कुमार का घर, जर्जर बंगले को तोडऩे के संबंध में नोटिस हुआ था चस्पा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

मुंबई/खंडवा: सिने जगत के मशहूर गायक किशोर कुमार का खंडवा स्थित घर अब नहीं तोड़ा जाएगा। नगर निगम ने उनका घर गिराने का आदेश दिया था, जिस पर कलेक्टर अभिषेक सिंह ने रोक लगा दी है। घर को तोडऩे के पीछे नगर निगम का तर्क यह था कि जर्जर होने के कारण यह घर आसपास रहने वालों के लिए खतरनाक हो गया है।

नगर निगम ने चस्पा किया था नोटिस

नगर निगम ने किशोर कुमार के परिजनों को यह घर खाली करने का नोटिस दिया था। मगर उनके परिजनों ने उसका जवाब ही नहीं दिया। हाल ही में बॉम्बे बाजार स्थित किशोर कुमार के बंगले में नगर निगम के वार्ड मोहर नोटिस चस्पा करने पहुंचे थे। जर्जर बंगले को तोडऩे के संबंध में नोटिस भी चस्पा कर दिया गया था, लेकिन घर पर मौजूद चौकीदार सीताराम ने बताया कि अज्ञात लोग यह नोटिस निकाल ले गए। सीताराम करीब चालीस साल से इस मकान की देखरेख कर रहे हैं।

नोटिस निकालने की सूचना मिलने पर दोबारा नोटिस चस्पा कर गए। यह नोटिस कल्याण कुमार कुंजीलाल गांगुली (अमित कुमार पिता किशोरकुमार व अन्य) के नाम से चस्पा किया गया है। नोटिस में कहा गया है कि भवन खतरनाक स्थिति में होकर कभी भी गिर सकता है। नगर निगम का कहना है कि उसके पास किशोर कुमार के पुत्र अमित कुमार के मुंबई स्थित घर का पता नहीं है, इसलिए नोटिस मकान पर चस्पा कर दिया है। नगर निगम के रिकॉर्ड में किशोरदा का बंगला उनके पिता कुंजीलाल गांगुली के नाम पर है।

आगे की स्लाइड में जानिए किशोर कुमार से जुड़ी और भी बातें

पुण्य तिथि पर याद किए गए किशोर

किशोर कुमार की पुण्य तिथि पर 13 जुलाई को खंडवा में कई कार्यक्रम आयोजित किए गए। यहां हर साल प्रदेश सरकार की ओर से स्मृति किशोर का कर्यक्रम आयोजित किया जाता है। खंडवा में किशोर कुमार की समाधि भी है जहां हजारों प्रशंसक पहुंचते हैं। समाधि स्थल पर हमेशा किशोर के गाने बजते रहते हैं। यदि कहा जाये कि खंडवा में आज भी किशोर जिंदा हैं, तो अतिश्योक्ति नहीं होगी।

शहर में किशोर कुमार के प्रशंसक द्वारा दर्जनों ‘म्यूजिक क्लब’ चलाए जाते हैं। ऐसे क्लबों में लोग किशोर के गानों को केराओके सिस्टम पर गाते हैं और पुरानी यादों को ताजा करते हैं। इनमें से ज्यादातर क्लब शौकिया हैं यानी यहां कोई पैसा नहीं लिया जाता। खंडवा में किशोर की स्मृति में एक प्रेक्षागृह भी है।

आगे की स्लाइड में जानिए किशोर कुमार के इस घर के बारे में

इसी घर में बीता किशोर कुमार का बचपन

गुजरे जमाने के बॉलीवुड के जानेमाने गायक किशोर कुमार के गाए कई गीतों के लोग आज भी दीवाने हैं और उनके गाने सुनने को बेकरार रहते हैं। इसके अलावा उन्होंने कई फिल्मों में अपने शानदार अभिनय से भी लोगों का मन मोहा है। किशोर दा की ढेर सारी स्मृतियां इस घर से जुड़ी हुई हैं। इसी घर में चर्चित गायक का बचपन बीता। घर के एक कमरे में वह पलंग आज भी रखी हुई है जिस पर किशोर कुमार का जन्म हुआ। इसके अलावा घर में लकड़ी का मंदिर और अन्य सामान भी है।

बंगले की हालत इतनी जर्जर हो चुकी है कि इसके छत की लकडिय़ां निकल रही हैं। कमजोर होने के कारण दीवारें भी गिर रही हैं। भवन की एक दीवार हाल ही में टूटी है, जिसका मलबा बंगले के परिसर में ही पड़ा है। भवन की ऊपरी मंजिल की छत पूरी तरह जर्जर हो चुकी है। किशोर कुमार के परिजनों का कहना है कि उन्हें बंगले की स्थिति को लेकर मुझे खबर मिलती रहती है। वे नहीं चाहते कि जर्जर बंगला गिर जाए। दीवारों को मजबूत करने के लिए उन्होंने जल्द ही काम शुरू कराने की बात कही है।

Next Story