Top

के. के. मेनन: चुने गए मोस्ट वर्सटाइल एक्टर, मिला दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड

यह अवॉर्ड दादासाहेब फाल्के की विरासत का जश्न मनाते हैं, जो सच्चे दूरदर्शी थे। जिनकी इंडियन सिनेमा की शानदार जर्नी में अग्रणी और अमिट भूमिका रही है।

suman

sumanBy suman

Published on 19 Feb 2021 11:51 AM GMT

के. के. मेनन: चुने गए मोस्ट वर्सटाइल एक्टर, मिला दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड
X
के के मेनन को दादा साहेब फाल्के
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंबई : सामान्य चेहरा और आंखों से जिसके अभिनय झलकता है वह एक्टर कोई और नहीं लाइफ इन अ मेट्रो, और स्पेशल ऑप्स जैसी फिल्मों में उम्दा अदाकारी करने वाले के के मेनन है।एक्टर केके मेनन को दादा साहब फाल्के इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल अवॉर्ड्स के तहत मोस्ट वर्सटाइल एक्टर के खिताब से नवाजा गया।

के.के. मेनन बॉलीवुड के शानदार एक्टर में शुमार हैं, जिन्हें दादा साहब फाल्के इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल अवॉर्ड्स के तहत मोस्ट वर्सटाइल ऐक्टर का अवॉर्ड दिया गया है। के.के. मेनन ने अपने इस अवॉर्ड की जानकारी फैन्स से अपने अंदाज में शेयर की है।

पुरस्कार देकर सम्मानित

अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में के.के. मेनन को यह पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। आज तक मेनन ने कई फिल्मों में काम किया है, और अलग-अलग तरह के किरदार निभाए हैं। उन्हें ‘वर्सेटाइल एक्टर’ की कॅटेगिरी में पुरस्कार प्रदान किया गया है। पिछले तीन दशक से मेनन इस फिल्म इंडस्ट्री का हिस्सा रहे हैं, और उन्होंने कई फिल्मों में उम्दा अभिनय किया है।उनका एक अलग फैन फलोइंग है, और उनका अभिनय हर प्रकार से अलग है।

ट्रॉफी की फोटो शेयर

'ब्लैक फ्राइडे' (2004), 'सरकार राज' (2008), 'गुलाल' (2009), 'ABCD'(2013) और 'द गाजी अटैक' (2017) जैसी फिल्मों में नजर आए 54 साल के एक्टर ने सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर कर बताया और दादा साहब फाल्के इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल अवॉर्ड्स के आधिकारिक सोशल मीडिया हैंडल को टैग करते हुए लिखा है, शुक्रिया।

dada shaheb

यह पढ़ें....एयरस्ट्राइक से कांपे आतंकी: 67 खूंखारों की मौत, अफगानिस्तान का तगड़ा ऑपरेशन

प्रधानमंत्री ने भी दी थी बधाई

पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दादा साहब फाल्के इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल अवॉर्ड्स की टीम को शुभकामनाएं भेजी थीं। उन्होंने अपने लेटर में लिखा था, "दादासाहेब फाल्के इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल अवॉर्ड्स- 2021 के बारे में जानकर खुशी हुई है। यह अवॉर्ड दादासाहेब फाल्के की विरासत का जश्न मनाते हैं, जो सच्चे दूरदर्शी थे। जिनकी इंडियन सिनेमा की शानदार जर्नी में अग्रणी और अमिट भूमिका रही है।सभी विजेताओं को दिल से बधाई। उम्मीद करता हूं कि ये अवॉर्ड्स कई स्टेकहोल्डर्स को कहानी कहने की कला को ऊंचे स्तर पर ले जाने के लिए प्रेरित करेंगे। फिल्म फेस्टिवल अवॉर्ड्स-2021 की सफलता के लिए शुभकामनाएं।"

dada shaheb

यह पढ़ें....औरैया: दबंगों ने झोपड़ी में आग लगाकर की मारपीट, एसपी से की शिकायत

ऐसे हुई शुरुआत

१९९५ में मेनन ने ‘नबीम’ इस फिल्म से बॉलीवुड में कदम रखा, और फिर कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखाके.के. मेनन ने बॉलिवुड में फिल्म ‘नसीम’ (1995) से डेब्यू किया था। हालांकि इस फिल्म में उनका रोल काफी छोटा था और उन्हें वह पहचान नहीं दिला पाया जिसके वह हकदार थे। इसके बाद मेनन साल 1999 में फिल्म ‘भोपाल एक्सप्रेस’ में लीड रोल में दिखे। हालांकि उन्हें असली पहचान साल 2004 में रिलीज हुई फिल्म ‘ब्लैक फ्राइडे’ से मिली ।

केके मेनन ने हजारों ख्वाहिशें ऐसी, दीवार, सिलसिले, सरकार, दंश, एक खिलाड़ी एक हसीना, कार्पोरेट, शून्य, सरकार राज, मुंबई मेरी जान, शौर्य, सिर्फ, द्रोण, गुलाल, संकट सिटी, लफंगे परिंदे, भेजा फ्राइ 2, भिंडी बाजार, चालीस चौरासी, लाइफ की तो लग गई, शाहिद, राजा नटवरलाल, हैदर, बेबी, रहस्य, बॉम्बे वेलवेट, सिंह इज ब्लिंग, सात उचक्के, द गाजी अटैक और कई अन्य फिल्मों में नजर आ चुके हैं।हालांकि, उन्हें पहचान 2004 में रिलीज हुई 'ब्लैक फ्राइडे' से मिली थी। 'हैदर' (2014) के लिए उन्हें बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर का फिल्मफेयर अवॉर्ड मिल चुका है। आखिरी बार उन्हें 2020 में रिलीज हुई वेब सीरीज 'स्पेशल ऑप्स' में देखा गया था।

दादा साहब फाल्के इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल के पांचवें एडिशन की सेरेमनी 20 फरवरी 2021 को मुंबई में होगी। मेनन ने 30 सालों में कई पुरस्कार प्राप्त किए हैं । मेनन को आईआईएफए अवार्ड और 'हैदर' में उनके प्रदर्शन के लिए सर्वश्रेष्ठ फिल्मफेयर पुरस्कार मिला चुका है।

suman

suman

Next Story