जब ऐसी फिल्मों करने से लोगों ने किया था मना तो माधुरी ने उन्हें करके दिया जवाब

जयपुर: 35 साल के लंबे फिल्मी करियर में  माधुरी दीक्षित आगे बढ़ती रही हैं। वे अपने करियर से संतुष्ट हैं, उन्होंने हर तरह की फिल्में की हैं। लेकिन क्या इस बात पर यकीन करेंगे कि एक दौर ऐसा था जब उन पर किसी को यकीन नहीं था और उन्हें सिर्फ कॉर्मशियल फिल्में ही करने की सलाह दी गई थी। कहा तो यहां तक गया कि बाकी कुछ भी किया तो वे फेल हो जाएंगी। हम आपके हैं कौन, साजन, दिल तो पागल है जैसी ब्लॉकबस्टर फिल्मों के अलावा माधुरी ने क्रिटिकली एक्लेम्ड फिल्में जैसे मृत्युदंड और लज्जा भी की हैं।

माधुरी ने  एक इंटरव्यू में बताया ‘करियर की शरुआत से ही मैंने कई तरह के अलग-अलग किरदार निभाए हैं लेकिन मुझसे कहा गया कि मुझे सिर्फ कॉमर्शियल फिल्में ही करनी चाहिए. कहा गया कि मैं सिर्फ वही सेटअप को बिलॉन्ग करती हूं. ये खासकर तब कहा गया जब मैं ‘मृत्युदंड’ कर रही थी. लोग कहते थे मैं आर्ट फिल्में नहीं कर सकती लेकिन मैंने किया।

दिलीप कुमार से मधुबाला को था बेइंतहा प्यार, इस शख्स की खातिर ठुकरा दिया था प्रस्ताव

‘ये भले भी बड़ी हिट  न हुई हों लेकिन लोगों ने पसंद किया और इससे दूसरे लोगों को भी मौका मिला।’ माधुरी ने कहा ‘ जिस सिनेमा पर विश्वास करते हैं उसे करना काफी ट्रिकी हो सकता है, एक व्यक्ति को कई रूढ़ीवादी सोच के खिलाफ जाना पड़ता है और एक स्टार को लेकर बने मापदंडों से आगे सोचना पड़ता है।उन्होंने आगे कहा ‘आपको अपने ऊपर काफी विश्वास लेकर चलना पड़ता है, बिना सफलता और असफलता की परवाह किए. आपको कुछ नया करने की कोशिशें हमेशा करते रहना चाहिए. अगर आप इसमें फेल हुए तो कई बात नहीं लेकिन अगर सफल हो गए तो दूसरों को कुछ अलग करने की प्रेरणा मिलेगी. एक महिला के लिए रिस्क लेना कई बार आश्चर्यजनक साबित हो सकता है’। 2007 में ‘आजा नच ले’ से कमबैक करने वाली माधुरी दीक्षित जल्द ही अजय देवगन की जबरदस्त कॉमेडी फिल्म ‘टोटल धमाल’ में नजर आएंगी। माधुरी ने बताया कि वे इंदर कुमार की ये फिल्म वो इसलिए करने को राजी हुईं क्योंकि इस फिल्म में ऐसा कुछ है जो उन्होंने पिछले काफी समय से किया नहीं है और उन्हें इसमें काफी कुछ हटके सीखने को भी मिला।