×

शाहरुख ने ‘भारत के अपने विचार’ पर कहा, विविधतापूर्ण होना अच्छी बात, लेकिन विभाजनकारी होना नहीं

किदवई के एक वृत्तचित्र के तहत 29 सेकंड की क्लिप में खान ने कहा, ‘‘विविधतापूर्ण होना अच्छी बात है, विभाजनकारी होना (अच्छी बात) नहीं है। जिस तरह से कला का कोई धर्म नहीं होता, मुझे लगता है कि हमारे देश का कोई धर्म नहीं है और वे सभी एकसाथ मिल गये हैं।’’

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 23 April 2019 5:04 AM GMT

शाहरुख ने ‘भारत के अपने विचार’ पर कहा, विविधतापूर्ण होना अच्छी बात, लेकिन विभाजनकारी होना नहीं
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नयी दिल्ली: कांग्रेस नेता और वृत्त चित्र निर्माता यास्मीन किदवई ने सोमवार को एक वीडियो क्लिप साझा की जिसमें अभिनेता शाहरुख खान ‘भारत के विचार’ पर बोलते हुए देश की विविधतापूर्ण संस्कृति की तुलना सुंदर चित्र से की जिसमें सभी रंग सौहार्दपूर्ण तरीके से एक साथ मौजूद हैं।

ये भी देखें:पूर्वोत्तर में अब तक जब्त हुए आठ करोड़ रुपये

किदवई के एक वृत्तचित्र के तहत 29 सेकंड की क्लिप में खान ने कहा, ‘‘विविधतापूर्ण होना अच्छी बात है, विभाजनकारी होना (अच्छी बात) नहीं है। जिस तरह से कला का कोई धर्म नहीं होता, मुझे लगता है कि हमारे देश का कोई धर्म नहीं है और वे सभी एकसाथ मिल गये हैं।’’

ये भी देखें:देशभर में जमीन खो रही है भाजपा: पटनायक

कांग्रेस पार्टी के आधिकारिक हैंडल पर भी इस वीडियो को साझा किया गया और ट्वीट में कहा गया कि शाहरुख खान भी वही बात कह रहे हैं जो कांग्रेस पार्टी कई साल से कह रही है। भारत एक राष्ट्र है जिसका गुण इसकी विविधता है।

(भाषा)

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story