×

Fact Check: कोरोना के कारण 30 सितंबर तक सभी स्कूल कॉलेजों को बंद कर रही सरकार?

सोशल मीडिया पर एक खबर तेज़ी से वायरल हो रही है जिसमें केंद्र सरकार के स्कूल कॉलेजों को लेकर एक फैसले पर कई दावे किए जा रहे हैं।

Meghna

MeghnaNewstrack MeghnaRagini SinhaPublished By Ragini Sinha

Published on 12 Sep 2021 6:10 PM GMT

Fact Check latest news
X

30 सितंबर तक सभी स्कूल कॉलेजों को बंद कर रही सरकार? (Social media)


  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Fact Check: क्या कोरोना वायरस की तीसरी लहर ने दे दी है देश में दस्तक? क्या इसकी वजह से स्कूल कॉलेजों के 50,000 बच्चे एक साथ संक्रमित हो गए हैं? क्या इसके मद्देनज़र केंद्र सरकार स्कूल कॉलेजों को 30 सितंबर तक बंद कर रही है? जानिए सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस खबर का सच!

दुनियाभर में फैली कोरोना वायरस महामारी अभी खत्म नहीं हुई है। वैक्सीन आने के बावजूद भारत सरकार समय समय पर दिशा निर्देशों के पालन को लेकर ऐडवाइज़री जारी कर रही है। कोरोना वायरस की वैक्सीन लेने को लेकर फैले डर और भ्रम को सरकार खत्म करने के लिए कई कदम उठा रही है। ऐसे में ये ज़रूरी है कि इससे जुड़ी मेडिकेशन पर फैली अफवाहों से बचें और सही दवाईयां अपनाएं।

30 सितंबर तक बंद हो रहे हैं स्कूल कॉलेज?

सोशल मीडिया पर एक खबर तेज़ी से वायरल हो रही है जिसमें केंद्र सरकार के स्कूल कॉलेजों को लेकर एक फैसले पर कई दावे किए जा रहे हैं। यूट्यूब पर चलाए जा रहे इस खबर में गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर का इस्तेमाल कर दावा किया जा रहा है कि, "तीसरी लहर ने मचाया कहर, स्कूल खुलते ही छात्र और शिक्षक हुए कोरोना वायरस से संक्रमित। एक साथ 50,000 बच्चे हुए कोरोना वायरस से संक्रमित। सभी स्कूल कॉलेज 30 सितंबर तक बंद।"

गलत है दावा

तेज़ी से वायरल हो रहे इस खबर पर संज्ञान लेते हुए इसको शेयर कर सरकार की पीआईबी फैक्ट चेक के ट्विटर हैंडल ने स्पष्टीकरण जारी किया है। हैंडल ने ट्वीट किया, "केंद्र सरकार द्वारा स्कूल और कॉलेज बंद करने के संबंध में ऐसा कोई निर्णय नहीं लिया गया है। स्कूल-कॉलेज खोलने व बंद करने का निर्णय राज्य सरकारों द्वारा लिया जाता है। ऐसे फर्जी संदेशों व तस्वीरों को साझा न करें।"

खुद करें जांच, तब करें विश्वास

आज के दौर में जहां जानकारियां जल्दी से जल्दी पहुंचने की ज़रूरत है वहीं इस बात पर भी ज़ोर देना होगा की गलत जानकारी ना साझा की जाए। सोशल मीडिया पर आए दिन कई ऐसी खबरें वायरल होती रहती हैं जिसमें कोरोना वायरस और इसकी वैक्सीन को लेकर अलग अलग दावे किए जाते हैं। हमें उनकी प्रामाणिकता की जांच कर ही उनपर विश्वास करना होगा। वैक्सीन से जुड़ी जानकारियों पर खासकर विश्वास करने से पहले किसी विशेषज्ञ की सलाह ज़रूर लें।

Ragini Sinha

Ragini Sinha

Next Story