×

Fact Check : कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी से 1 लोगों की मौत पर PIB ने दी सफाई

Fact Check : आउटलुक इंडिया की टीम का दावा था कि कोरोना काल में ऑक्सीजन की कमी से सिर्फ 1 लोगों की मौत हुई है।

Network

NetworkNewstrack NetworkShraddhaPublished By Shraddha

Published on 13 Aug 2021 3:39 AM GMT

फैक्ट चेक टीम ने आउटलुक इंडिया की रिपोर्ट को किया खारिज
X

फैक्ट चेक टीम ने आउटलुक इंडिया की रिपोर्ट को किया खारिज (फोटो - सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Fact Check : कोरोना महामारी की दूसरी लहर ( Corona Second Wave) में ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी से मौत के आंकड़े पर चर्चा तेजी से पकड़ी हुई है। यह ऐसा इसलिए हाल ही में आउटलुक इंडिया (Outlook India) की टीम का दावा था कि कोरोना काल में ऑक्सीजन की कमी से सिर्फ 1 लोगों की मौत हुई है। जिस पर बुधवार को स्वास्थ्य मंत्रालय (Ministry of Health) ने बुधवार को कहा कि किसी भी राज्य ने अभी तक कोई ऑक्सीजन से मरने वाले कोरोना मरीजों की मौतों का कोई आंकड़ा नहीं दिया है।


आपको बता दें कि आउटलुक इंडिया का दावा है कि स्वास्थ्य मंत्रालय (Ministry of Health) के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल (Joint Secretary Lav Agarwal) ने कहा है कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी के कारण केवल 1 मरीज की मौत हुई है। इस बात पर सरकार की तरफ से सफाई भी आई है। पीआईबी की फैक्ट चेक की टीम ने लव अग्रवाल की प्रेस कांफ्रेंस की एक क्लिप भी जारी की है। जिसमें यह इस सवाल का जवाब देते नजर आ रहे हैं।



पीआईबी की फैक्ट चेक टीम ने आउटलुक इंडिया के इस दावे को साफ इन्कार कर दिया है। संयुक्त सचिव लव अग्रवाल की तरफ से ऐसा कोई बयान नहीं दिया गया है। बताया जा रहा है कि इस प्रेस कांफ्रेंस में लव अग्रवाल ने कहा था कि सिर्फ एक राज्य से संदिग्ध मौत को लेकर रिपोर्ट आई है। लेकिन उन्होंने यह नही बताया कि उसकी मौत ऑक्सीजन की कमी से हुई थी। सरकार ने इस आउटलुक इंडिया की रिपोर्ट को खारिज कर दिया है।


आपको बता दें कि पीआईबी की फैक्ट चेक टीम किसी भी फेक न्यूज से निपटने के लिए केंद्र सरकार के मंत्रालयों, विभागों और योजनाओं के बारे में गलत खबरों का सत्यापन करने के लिए जांच करने वाली टीम पीआईबी की फैक्ट चेक टीम कहलाती है। इस टीम के द्वारा किसी भी खबर का सत्यापन किया जा सकता है।

Shraddha

Shraddha

Next Story