×

Fact Check: बिरहाना रोड कानपुर में गंगा मेला में रंग का ठेला, तेजी से वायरल हुआ वीडियो, जानिए हकीकत

Fact Check: कानपुर में गंगा मेला के मौके पर रंग का ठेला निकाला गया। इस मौके पर कानपुरवासियों ने जमकर होली खेली। जिसका वीडियो वायरल हो रहा है।

Krishna Chaudhary
Published on 23 March 2022 10:14 AM GMT
Fact Check: बिरहाना रोड कानपुर में गंगा मेला में रंग का ठेला, तेजी से वायरल हुआ वीडियो, जानिए हकीकत
X

रंग का ठेला (फोटो साभार- ट्विटर)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Fact Check: देश के अधिकतर हिस्सों में होली (Holi 2022) किसी एक दिन ही खेला जाता है, लेकिन देश में कुछ जगह ऐसी भी हैं जहां होली का त्यौहार एक विशेष दिन पर पूरे धूमधाम से मनाया जाता है। एमपी (Madhya Pradesh) की आर्थिक नगरी इंदौर (Indore) औऱ यूपी का कानपुर शहर (Kanpur) इन्हीं जगहों में शामिल है। इंदौर में रंगपंचमी (Rang Panchami) के दिन असली होली मनाई जाती है। इस दिन यहां ऐतिहासिक गेर निकाली जाती है, जिसे देखने देश के अन्य हिस्सों के अलावा विदेश से भी लोग आते हैं। इसी प्रकार कानपुर में गंगा मेला (Ganga Mela) के दिन पूरा शहर रंगों में डूबा रहता है।

क्या हो रहा वायरल?

कानपुर में आज यानि बुधवार को गंगा मेला के मौके पर रंग का ठेला (Rang Ka Thela) निकाला गया। इस मौके पर कानपुरवासियों ने जमकर होली खेली। सोशल मीडिया (Social Media) पर एक वीडियो तेजी से वायरल (Viral Video) हो रहा है। वायरल वीडियो को लेकर दावा किया जा रहा है कि ये कानपुर के गंगा मेले में निकले रंग का ठेला है। वीडियो में रंग उड़ाते एक गेर चल रही है। जिसके आसपास भारी संख्या में लोगों का हूजुम दिखाई दे रहा है। पूरा इलाका रंगों में सरोबार नजर आ रहा है।

पड़ताल (Fact Check)

वायरल वीडियो को लेकर सोशल मीडिया पर किए जा रहे दावे की जब पड़ताल हमने की तब हमें इसकी हकीकत का पता चला। दरअसल, ये वीडियो रंगपंचमी के दिन इंदौर में निकलनी वाली गेर का है। इंदौर में 22 मार्च को रंगपंचमी के मौके पर गेर निकाली गई जो कि ऐतिहासिक रही। इंदौर प्रशासन के मुताबिक, इस गेर में पहली बार पांच लाख के करीब लोग शामिल हुए।

हमने इस वीडियो को लेकर इंदौर में रह रहे कुछ लोगों से संपर्क किया तो उन्होंने भी इसे इंदौर का दिल कहे जाने वाले राजवाड़ा (Rajwada) पर निकली ऐतिहासिक गेर का बताया। बता दें कि इंदौर में प्रत्येक साल रंगपंचमी के मौके पर निकाले जाने वाली गेर इसबार दो साल बाद निकली। दरअसल, कोरोना के कारण 2020 और 2021 में गेर निकालने की अनुमति नहीं दी गई थी।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story