अब WhatsApp पर जल्द आयेगी ये सुविधा, Phone pe और Paytm को लगेगा झटका

भारत में जल्द डिजिटल पेमेंट के लिए ‘WhatsApp Pay’ लॉन्च किया जाएगा, जो पहले से मौजूद डिजिटल पेमेंट ऐप्स को टक्कर देगा…

नई दिल्ली: फेसबुक के CEO मार्क जकरबर्ग ने हाल ही में ऐलान किया कि भारत में जल्द डिजिटल पेमेंट के लिए ‘WhatsApp Pay’ लॉन्च किया जाएगा। कंपनी ने बताया कि इस पर तेजी से काम किया जा रहा है। विश्लेषकों से बात करते हुए जकरबर्ग ने कहा कि कंपनी पेमेंट्स का निर्माण वैश्विक बाजार के लिए कर रही है।

उन्होंने बताया कि फिलहाल हम भारत में इसकी टेस्टिंग कर रहे हैं। हम इसे एक साथ कई बाकी देशों में लॉन्च करने की उम्मीद कर रहे हैं। हालांकि इसमें कितना समय लगेगा इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है। मगर कंपनी का कहना है वह ‘वॉट्सऐप पे’ पर जोर-शोर से काम कर रही है।

यह भी देखे…छत पर सो रही 6 साल की बच्ची के साथ युवक ने किया दुष्कर्म, मक्के के खेत में मिली

वाट्सऐप पे भारत की स्थानीय स्तर पर डेटा को स्टोर करने की मांग की वजह से लॉन्च नहीं हो पा रहा है, जबकि पिछले साल 10 लाख यूजर्स के साथ इसकी बीटा टेस्टिंग सफलतापूर्वक किया गया था।

जकरबर्ग ने कहा कि इंस्टाग्राम और फेसबुक पर आप शॉपिंग करते हैं, आपके पास मार्केटप्लेस है और इस पर लाखों छोटे कारोबार हैं, जो पेजेज समेत अन्य टूल्स का इस्तेमाल करते हैं। वह अपनी इंवेंट्री शेयर करने के लिए इंस्टाग्राम का यूज करते हैं और लोग पेमेंट करते हैं।

उन्होंने कहा कि जब आप मैसेंजिंग सेवा का इस्तेमाल करते हैं तो सबकुछ बहुत ही अंतरंग और निजी होता है। यह व्यवसायों से बातचीत करने का सहज स्थान है और लेनदेन करने का निजी स्थान है।

पहले से मौजूद हैं इन पेमेंट ऐप्स को टक्कर दे सकता है ‘WhatsApp Pay’

इसके अलावा हाल ही में अमेजन ने भी एंड्रॉयड ग्राहकों के लिए अमेजन पे यूपीआई लॉन्च करने की घोषणा की थी। साथ ही ‘Apple Pay’ भी बाजार में कदम रख चुकी है।

यह भी देखे… किसने कहा, छुट्टी मनाने चले जाते हैं राहुल बाबा, मां ढूंढती है बिटवा कहां चला गया

इतना ही नहीं ‘Google Pay’ ने भी इस क्षेत्र में अपनी पकड़ बना ली है। मार्च में गूगल पे ने रिकॉर्ड 81 अरब लेन-देन को अंजाम दिया था। मौजूदा समय में गूगल पे के करीब 4.5 करोड़ ग्राहक हैं।

साथ ही पेटिएम जैसी दिग्गज ऐप भी पहले से बाजार में मौजूद है तो अब देखना ये है कि वॉट्सऐप पे कितनी दमदार होगी। साल 2023 तक भारत का डिजिटल पेमेंट उद्योग एक लाख करोड़ डॉलर का हो जाने की उम्मीद है।