Top

अस्पताल से रातों-रात गायब हुईं वैक्सीन, 1710 डोज हुए चोरी, मचा हड़कंप

सिविल अस्पताल के PPC सेंटर से चोरों ने कोविशील्ड की 1270 और कोवैक्सीन की 440 डोज चोरी कर ली है। चोरों की तलाश की जा रही।

Newstrack

NewstrackNewstrack Network NewstrackShreyaPublished By Shreya

Published on 22 April 2021 6:56 AM GMT

अस्पताल से रातों-रात गायब हुईं वैक्सीन, 1710 डोज हुए चोरी, मचा हड़कंप
X

वैक्सीन (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

जींद: देशभर में कोरोना वायरस (Corona Virus) के बढ़ते कहर के बीच केंद्र और राज्य सरकारें वैक्सीनेशन (Covid-19 Vaccination) पर जोर दे रही हैं। इस बीच हरियाणा के जींद से एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है। यहां पर अस्पताल से कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) की 1710 डोज चोरी हो गई। बताया जा रहा है कि इसमें 1270 कोविशील्ड (Covishield) और 440 कोवैक्सीन (Covaxin) शामिल हैं। पूरी घटना जींद के सिविल अस्पताल (Civil Hospital) की है।

जिंद के सिविल अस्पताल (Civil Hospital) के PPC सेंटर (PPC Centre) स्थित स्टोर से चोरों ने कोविशील्ड की 1270 और कोवैक्सीन की 440 डोज चोरी कर ली है। इस घटना का पता तब चला जब गुरुवार सुबह स्वास्थ्य निरीक्षक राममेहर वर्मा (Rammehar Verma) कार्यालय पहुंचे। उन्होंने इस बारे में अधिकारियों को सूचित किया। जिसके बाद घटना की जानकारी पाकर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और मामले की जांच कर रही है।

वैक्सीन (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

वैक्सीन हुई चोरी, लेकिन पैसे रहे सुरक्षित

बताया जा रहा है कि जब स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी सुबह नौ बजे कार्यालय पहुंचे तो पीपी सेंटर का ताला टूटा हुआ था। इसके बाद अंदर जाने पर स्टोर का भी ताला टूटा मिला। यहां जब स्टाफ न चेक किया तो डीप-फ्रीज में रखीं कोरोना वैक्सीन गायब थीं। इसके अलावा अलमारी से दो फाइल (Files) भी चोरी हुई हैं। हालांकि मिली जानकारी के मुताबिक, उसी जगह पर रखे 50 हजार रुपये सुरक्षित रखे हुए थे। इस वैक्सीन की चोरी को फिलहाल कालाबाजारी (Black Marketing) से जोड़ कर देखा जा रहा है।

आरोपियों की तलाश जारी

वहीं, दूसरी ओर घटना की सूचना मिलते ही टीकाकरण के प्रभारी व डिप्टी सिविल सर्जन डॉ. रमेश पांचाल मौके पर पहुंचे और मामले की जानकारी पुलिस को दी। जिसके बाद डीआईजी ओपी नरवाल भी फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट टीम के साथ घटनास्थल पर आ गए। फिर ऑफिस में कुंडों से निशान जुटाए। इनके आधार पर अब आरोपियों की पहचान करने की कोशिश की जा रही है। साथ ही हॉस्पिटल में लगे सीसीटीवी कैमरों से भी साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं।

वैक्सीन चोरी का पहला मामला

बताया जार हा है कि सीसीटीवी कैमरों में दो लोग बैग के साथ अस्पताल के नए भवन के पास से ग्रिल कूद कर अस्पताल में आते दिखाई दिए हैं। हालांकि ये पीपी सेंटर आए या नहीं इसका पता नहीं चल पाया है। बता दें कि ये हरियाणा में वैक्सीन चोरी का पहला मामला है।

Shreya

Shreya

Next Story