Top

कोरोना हुआ बेकाबू: हरियाणा में लगा संपूर्ण लॉकडाउन, लागू होंगी सख्त पाबंदियां

हरियाणा सरकार ने राज्य में सोमवार से संपूर्ण लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है।

Newstrack

NewstrackNewstrack Network NewstrackVidushi MishraPublished By Vidushi Mishra

Published on 2 May 2021 10:25 AM GMT

कोरोना हुआ बेकाबू: हरियाणा में लगा संपूर्ण लॉकडाउन, लागू होंगी सख्त पाबंदियां
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: हरियाणा में सरकार ने बड़ा ऐलान किया है। राज्य में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों कोे देखते हुए हरियाणा सरकार ने सोमवार से संपूर्ण लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है। ऐसे में राज्य में 3 मई से सात दिनों के लिए पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की है।

ऐलान करते हुए हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा है कि राज्य में तीन मई से सात दिनों के लिए फुल लॉकडाउन लगाया जाएगा। बता दें कि महाराष्ट्र, यूपी, दिल्ली के बाद अब हरियाणा में भी कोरोना वायरस के बढ़ने लगे हैं।

तेजी से बढ़े मामले

बता दें, शनिवार को राज्य में बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस के 13588 नए मामले सामने आए थे। जबकि गुरुग्राम में 4099 कोरोना मरीज मिले थे। वहीं शनिवार को पूरे राज्य में कोरोना वायरस से 125 लोगों की मौत भी हुई। इस बीच राहत की बात ये रही कि शनिवार को 8509 लोग ठीक भी हुए।

इस दौरान कोरोना की दूसरी लहर के बीच हरियाणा सरकार ने शनिवार को संक्रमण को ध्यान में रखते हुए संवेदनशील, गर्भवती और दिव्यांग कर्मचारियों को काम पर नहीं बुलाने का निर्णय लिया है। आवश्यक सेवा में शामिल होने पर भी इन्हें छूट दी गई है। इस बारे में सरकार ने जानकारी दी।

ऐसे में सरकारी निर्णय के अनुसार, जरूरत पड़ने पर वह घर से ही काम कर सकते हैं बशर्ते कि उनके पास आवश्यक बुनियादी ढांचा मौजूद हो। सरकारी बयान में कहा गया है कि उपरोक्त कर्मचारियों को यह छूट अगले आदेश तक जारी रहेगी।

साथ ही बयान में कहा गया है कि कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों को देखते हुए, तनाव, रक्तचाप, दिल अथवा फेफड़े की बीमारी, कैंसर और अन्य ऐसे बीमारियों से पीड़ित कर्मचारी जिनकी उम्र 50 साल या उससे अधिक है और जिन्हें संक्रमण का उच्च जोखिम है, उन्हें किसी ऐसे काम में नहीं लगाया जाएगा जहां जनता के साथ सीधा संपर्क करने की जरूरत पड़ती है।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story