Top

हरियाणा के प्राइवेट अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से चार मरीजों की मौत,

देश कोरोना महासंकट से जूझ रहा है। पिछले 24 घंटे में लाखों लोग संक्रमित हो गए हैं। हर रोज हजारों लोग कोरोना के कारण मर रहे हैं।

Newstrack

NewstrackReporter NewstrackShwetaPublished By Shweta

Published on 26 April 2021 1:08 AM GMT

ऑक्सीजन की कमी से मौत
X

ऑक्सीजन की कमी से मौत फोटो( सौजन्य से सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रेवाड़ीः देश कोरोना महासंकट से जूझ रहा है। पिछले 24 घंटे में लाखों लोग संक्रमित हो गए हैं। हर रोज हजारों लोग कोरोना के कारण मर रहे हैं। जो सरकार के लिए चिंता का विषय बनता जा रहा है। हरियाणा के रेवाड़ी का हाल कुछ ऐसा ही है।

बता दें कि रेवाड़ी के एक प्राइवेट अस्पताल में ऑक्सीजन के कमी कारण मरीज मर रहे हैं। यहां पर मेडिकल ऑक्सीजन न होने से चार मरीजों की मौत हो गई। जिला प्रशासन ने मौत के कारणों का पता लगाने में जुटी हुई है। इसकी जांच शुरु कर दी गई है। इस घटना के बाद कोविड अस्पताल (Covid Hospital) की इमारत के बाहर जान गंवाने वाले मरीजों के कुछ रिश्तेदारों ने धरना-प्रदर्शन किया और अस्पताल में ऑक्सीजन की भारी किल्लत (Oxygen Crisis) का आरोप लगाया।

गौरतलब है कि इस घटना के बाद से अस्पताल के एक अधिकारी ने कहा कि, 'तीन मरीजों की मौत आईसीयू में जबकि एक मरीज की मौत वार्ड में हुई। हमारे पास ऑक्सीजन की सीमित आपूर्ति है। हम लगातार प्रशासन को इस बारे में बता रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम खाली ऑक्सीजन सिलेंडर को दोबारा भरने के लिए वेंडर के पास भेज रहे हैं। सुबह नौ बजे से ही हम अधिकारियों को बता रहे हैं कि हमारे पास अब लिमिटेड ऑक्सीजन उपलब्ध है।

ऑक्सीजन की कमी की जांच

आपको बताते चले कि देश में कोरोना ने रफ्तार पकड़ लिया है। जिसे देखते हुए मेडिकल अधिकारी ने बताया कि हर रोज 300 मेडिकल ऑक्सीजन सिलेंडर की खपत है और अस्पताल में 114 कोविड मरीज भर्ती हैं। इस दौरान नारनौल के उपायुक्त और रेवाड़ी जिला उपायुक्त का अतिरिक्त कार्यभार संभाल रहे अजय कुमार ने बताया कि अस्पताल ने ऑक्सीजन की कमी और चार मरीजों की मौत का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि रेवाड़ी के उपसंभागीय मजिस्ट्रेट, रेवाड़ी के मुख्य चिकित्सा अधिकारी और अन्य अधिकारी अस्पताल में मौजूद हैं और वो मरीजों की मौत के कारणों का पता लगा रहे हैं। जबकि प्रशासन की ओर से हर रोज ऑक्सीजन की आपूर्ती की जा रही है इसके बाद में ऑक्सीजन की कमी का आरोप लगा रहा है। इसकी जांच शुरू हो गई है।

दोस्तों देश दुनिया की और को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shweta

Shweta

Next Story