×

BJP President JP Nadda: हिमाचल प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन से नड्डा का इनकार, जयराम ठाकुर के नेतृत्व में ही चुनाव लड़ेगी भाजपा

BJP President JP Nadda: भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव में पार्टी मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अगुवाई में ही चुनाव मैदान में उतरेगी।

Anshuman Tiwari
Updated on: 10 April 2022 11:26 AM GMT
BJP President JP Nadda: हिमाचल प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन से नड्डा का इनकार, जयराम ठाकुर के नेतृत्व में ही चुनाव लड़ेगी भाजपा
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

New Delhi: भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा (Jagat Prakash Nadda) ने हिमाचल प्रदेश में नेतृत्व बदलने की चर्चाओं पर पूरी तरह विराम लगा दिया है। उनका कहना है कि हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में होने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (Chief Minister Jai Ram Thakur) की अगुवाई में ही चुनाव मैदान में उतरेगी। उन्होंने जयराम ठाकुर को अच्छा काम करने वाला मुख्यमंत्री बताते हुए कहा कि ठाकुर की अगुवाई में सरकार ने हिमाचल प्रदेश के विविध क्षेत्रों में बेहतरीन काम किया है।

भाजपा अध्यक्ष की इस घोषणा को सियासी नजरिए से काफी अहम माना जा रहा है क्योंकि हिमाचल प्रदेश में कई दिनों से नेतृत्व परिवर्तन की चर्चाओं में तेजी पकड़ रखी थी। नए मुख्यमंत्री के रूप में केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर (Union Minister Anurag Thakur) का नाम लिया जा रहा था। दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया (Delhi Deputy CM Manish Sisodia) ने भी हाल में बयान दिया था कि भाजपा जयराम ठाकुर को हटाकर अनुराग ठाकुर को नया मुख्यमंत्री बना सकती है।

हिमाचल सरकार के कामकाज को बेहतर बताया

हिमाचल प्रदेश में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं और इसके लिए सभी सियासी दलों की ओर से तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। उपचुनाव के नतीजे पक्ष में न आने के कारण भाजपा पूरी ताकत लगाने की कोशिश में जुटी हुई है। इस बीच राज्य में नेतृत्व बदलने की चर्चाओं में भी काफी तेजी पकड़ रखी थी मगर अब नड्डा ने सरकार को बेहतर कामकाज का सर्टिफिकेट देते हुए नेतृत्व परिवर्तन की आशंका को खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अगुवाई में हिमाचल प्रदेश सरकार बेहतर काम कर रही है और ऐसे में पार्टी उन्हीं के नेतृत्व में चुनाव मैदान में उतरेगी।

उन्होंने कहा कि भाजपा हमेशा कुछ न कुछ बदलाव करती रहती है और चुनावों में 10 से 15 फ़ीसदी सीटों पर विधायकों के टिकट बदले जाते हैं। उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में भी कई पुराने विधायकों के टिकट काटकर नए चेहरों को मौका दिया गया था और हिमाचल प्रदेश में भी यही कदम उठाया जाएगा। उन्होंने कहा कि विधायकों के टिकट बदलने का काम कोई नया नहीं है। इसलिए इस पर हैरानी नहीं जताई जानी चाहिए।

2022 का चुनाव जीतने का दावा

नड्डा ने कहा कि भाजपा (BJP) अपने हिसाब से चुनाव के दौरान रणनीति बनाती है और फिर उसे अमल में लाकर चुनाव जीतने का प्रयास किया जाता है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश सरकार के अच्छे कामकाज को लेकर हम चुनाव मैदान में उतरेंगे और हमें पूरी उम्मीद है कि 2022 के चुनाव में हमें कामयाबी हासिल होगी। उन्होंने कहा कि पार्टी की ओर से चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी गई हैं और सरकार के बेहतर कामकाज और कार्यकर्ताओं की ताकत के दम पर हम दूसरे सियासी दलों को पिछाड़ने में कामयाब होंगे।

उपचुनाव के बाद चर्चाओं ने तेजी पकड़ी

हिमाचल प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन की आशंका को खारिज किया जाना सियासी नजरिए से काफी महत्वपूर्ण ऐलान माना जा रहा है। हिमाचल प्रदेश में पिछले साल हुए उपचुनाव में भाजपा का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा था और उसी के बाद समय-समय पर राज्य में नेतृत्व परिवर्तन की चर्चाएं तेज होती रही हैं। सियासी हलकों में इन चर्चाओं ने काफी तेजी पकड़ रखी है कि हिमाचल प्रदेश में भाजपा जयराम ठाकुर की जगह केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर को नेतृत्व सौंपने वाली है।

सिसोदिया के बयान को खारिज किया

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने भी हाल में इस आशय का बयान दिया था। उनका कहना था कि राज्य में जयराम ठाकुर की लोकप्रियता में काफी कमी आई है और इस कारण भाजपा उन्हें हटाकर अनुराग ठाकुर की ताजपोशी कर सकती है। उन्होंने विश्वसनीय सूत्रों से यह जानकारी मिलने का दावा किया था।

अब भाजपा अध्यक्ष ने सिसोदिया के इस बयान को पूरी तरह खारिज कर दिया है। उनका कहना है कि ये लोग अपना आपा पूरी तरह खो चुके हैं और इसीलिए भाजपा (BJP) के बारे में अनाप-शनाप बयानबाजी की जा रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा हर प्रदेश में अलग रणनीति अपनाती रही है मगर इतनी बात तय है कि हिमाचल प्रदेश में कोई नेतृत्व परिवर्तन नहीं किया जाएगा।

Next Story