Top

बर्फबारी से जारी अलर्ट: सैलानियों के लिए अटल टनल बंद, रुकी बसों की आवाजाही

हिमाचल प्रदेश के लाहौल स्पीति से बड़ी खबर आ रही है। यहां भारी हिमपात के दौरान हिमस्खलन हुआ है।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraPublished By Vidushi Mishra

Published on 7 April 2021 9:24 AM GMT

बर्फबारी से जारी अलर्ट: सैलानियों के लिए अटल टनल बंद, रुकी बसों की आवाजाही
X
फोटो- सोशल मीडिया 
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मनाली। हिमाचल प्रदेश के लाहौल स्पीति से बड़ी खबर आ रही है। यहां भारी हिमपात के दौरान हिमस्खलन हुआ है। बीते दो दिन से लगातार लाहौर में बर्फबारी का सिलसिला जारी है। जिसके चलते यहां अटल टनल को भी सैलानियों के लिए बंद कर दिया गया है। साथ ही एवलांच की वजह से चंद्रा नदी का बहाव भी रुक गया है। लोगों से बिना किसी वजह से बाहर निकलने पर मना किया गया है।

मौसम खराब

लाहौल के बारे में मिली जानकारी के मुताबिक, उदयपुर इलाके में गवाजंग गांव के पास ये हिमस्खलन हुआ है। हिमस्खलन के चलते चंद्रा नदी का बहाव रुक गया है। बता दें, पीडब्ल्यूडी के उदयपुर डिवीजन की तरफ से यह जानकारी साझा की गई है। दरअसल लाहौल स्पीति के काजा, कोकसर में बर्फबारी हो रही थी। लाहौल के दारचा में एक फीट, काजा और लोसर में एक फीट बर्फ गिरी है। जिससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं घाटी में लगातार दूसरे दिन से मौसम खराब बना हुआ है।

जारी बर्फबारी की वजह से केलांग से कुल्लू जाने वाली बस को आधे रास्ते पर रोकना पड़ा। ऐसे में बस में 17 यात्री सफर कर रहे थे। लेकिन बर्फ ज्यादा होने के कारण धुंधी में ही बस रोक दी गई। और सभी 17 यात्रियों को चालक-परिचालक को सोलंग से कुल्लू सुरक्षित भेज दिया गया है।


किसान बागवान बेहद खुश

इसके साथ ही किलाड़ से कुल्लू जाने वाली बस को सुरक्षा की दृष्टि से केलांग में ही रोक दिया गया है। हिमाचल प्रदेश में बुधवार के लिए मौसम विभाग ने बारिश का अलर्ट जारी किया है। जहां आने-जाने में एक तरफ लोगों को परेशानी हो रही है वहीं सूबे में बारिश और बर्फबारी से किसान बागवान बेहद खुश हैं।

जिला किन्नौर की ऊंचाई वाले इलाकों में हिमपात हुआ है। जिससे तापमान में भी काफी गिरावट दर्ज की जा रही है। जिला किन्नौर में हो रही बारिश और बर्फबारी से जिले के किसानों व बागवानों के चेहरे खिल गए हैं, क्योंकि यह बारिश किसानों और बागवानों के लिए अमृत का काम करेगी और सेब के लिए बर्फबारी को अच्छा माना जाता है।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story